जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने श्रीनगर में बुधवार शाम (Jammu and Kashmir Police has killed three terrorists in an encounter) को हुए एनकाउंटर में तीन आतंकी ढेर कर दिए हैं, जिनमें से एक टीआरएफ का शीर्ष (TRF's top commander Mehran Yasin Salla) कमांडर मेहरान यासीन साल्ला है. श्रीनगर के जामलाता निवासी मेहरान ने ही पिछले दिनों स्कूल प्रिंसिपल सुपिंदर कौर (school principal Supinder Kaur) और एक अन्य कश्मीरी पंडित (Kashmiri Pandit)  टीचर को निशाना बनाया था.

जम्मू-कश्मीर पुलिस के  दिलबाग सिंह के मुताबिक, एनकाउंटर में ढेर किए गए दोनों अन्य आतंकियों की पहचान पुलवामा निवासी मंजूर अहमद और कुलगाम निवासी बासित अहमद डार के तौर पर की गई है.

श्रीनगर के रामबाग एरिया में जम्मू-कश्मीर पुलिस की एसओजी और सीआरपीएफ की कमांडो टीम ने एक सूचना पर रामबाग एरिया में सर्च शुरू की. इसी दौरान भीड़भाड़ वाले एरिया में उनकी आतंकियों के साथ भिड़ंत हो गई. यह भिड़ंत आतंकी हरकतों के लिए कुख्यात लालचौक से एयरपोर्ट जाने वाली सड़क पर रामबाग फ्लाईओवर के पास हुई. एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, दोनों तरफ से चली फायरिंग के दौरान तीन आतंकी मौके पर ही ढेर हो गए. इस दौरान इलाके में अफरातफरी के हालात बने रहे.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, एनकाउंटर में मारे गए तीनों आतंकियों से हथियार बरामद किए गए हैं. एक आतंकी की जेब में उसका आधार कार्ड भी मिला. आधार कार्ड से उसकी पहचान पुलवामा के बाभरा निवासी मंजूर अहमद के तौर पर हुई है, जो पिछली 6 जून से अपने घर से लापता चल रहा था. पुलिस रिकॉर्ड में मंजूर अहमद का नाम हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी के तौर पर दर्ज है.