एमपी के राजगढ़ में रविवार रात एक सड़क हादसे में दो युवकों की मौत (Two youths were killed)  हो गई, जबकि एक गंभीर रूप से घायल हो गया।  बताया जा रहा है कि सड़क पर बैठे मवेशी को बचाने में कार हादसे की शिकार हो गई।  वहीं हादसे में मृत हुये दोनों युवकों काफी (Very close friendship) गहरी दोस्ती थी, जब दोनों के शव बाहर निकाले गये तो दोनों ने एक-दूसरे (Both of them held each other's hand) का हाथ थाम रखा था। 

जानकारी के अनुसार राजगढ़ खुजनेर रोड पर बीती रात सड़क पर बैठे मवेशियों के झुंड को बचाने के लिए एक कार अनियंत्रित (Car went out of control and fell into a well about 40 feet deep) होकर पुलिया से तकरीबन 40 फीट गहरे कुएं में जा गिरी।  हादसे में बजरंग दल (Bajrang Dal) के जिला सहसंयोजक व हिंदू जागरण मंच के जिला महामंत्री की मौत हो गई, जबकि कार चला रहे राहुल जोशी के दोनों पैर टूटने व सिर में गंभीर चोट की वजह से उसे इंदौर रेफर किया है। 

सूचना पर पहुंची पुलिस व होमगार्ड की टीम ने 2 घंटे की मशक्कत के बाद सुबह 4 बजे कार को निकाला।  दरअसल, राजगढ़ के जेल रोड के रहने वाले लेखराज सिंह सिसौदिया 30 साल (बजरंग दल विभाग सहसंयोजक), तोपखाना निवासी लखन पुत्र सोम नेयर 29 साल (हिंदू जागरण मंच जिला महामंत्री) और बांसवाड़ा राजगढ़ निवासी 28 साल के राहुल जोशी (ड्राइवर) कार नंबर डीएल 8सी- एई 0348 से रविवार रात राजगढ़ से खुजनेर रोड जा रहे थे। 

तभी रात करीब एक बजे बरखेड़ा पान गांव के पास के मोड़ पर सड़क पर बैठे मवेशियों को बचाने में कार पुलिया से टकराकर सड़क से नीचे कुएं की मुंडेर तोड़ती हुई उसमें जा गिरी।  इसके पहले जैसे ही कार कुएं की तरफ बड़ी को खुद को बचाने के प्रयास में चलती कार से कार ड्राइव कर रहा राहुल नीचे कूद गया, जिससे उसके दोनों पैर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गए और सिर में भी गंभीर चोटें आई हैं। 

हादसे के तुरंत बाद आसपास खेतों में रात को फसलों की सिंचाई कर रहे बरखेड़ा के ग्रामीण संतोष, बद्रीलाल सहित अन्य दौड़ कर कुएं के पास पहुंचे।  यहां घायल पड़े राहुल ने उन्हें बताया कि कार के अंदर दो लोग और बैठे हैं जो कार सहित पानी में डूब गए हैं। 

ग्रामीणों ने तुरंत कार में डूबे दोनों हिंदू संगठनों (Hindu organizations के पदाधिकारियों के परिजनों और पुलिस को सूचना दी।  इसके बाद रात करीब 1:45 बजे मौके पर पहुंचे कोतवाली प्रभारी मुकेश गौड़, होमगार्ड की रेस्क्यू टीम ने क्रेन मशीन बुलाकर मृतकों के परिजनों के सामने ही कार को पानी से बाहर निकलवाया।  सुबह 4 बजे कार को पानी से बाहर निकाला गया।  जिसके साथ ही दोनों पदाधिकारियों के शव की बाहर निकले।  ग्रामीण ही राहुल को रात में जिला अस्पताल लेकर आए, यहां से उसे गंभीर हालत में प्राथमिक उपचार देकर तुरंत इंदौर रेफर कर दिया गया, जिसकी हालत नाजुक बनी हुई है।