नागरिकता कानून के खिलाफ राजद के बिहार बंद को लेकर जिले में सड़क जाम व आगजनी की गई । वहीं परसा में राजद के बागी कार्यकर्ताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी का पुतला फूंका।  राजद के बागी कार्यकर्ता राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव और पूर्वमंत्री सह परसा विधायक चंद्रिका राय की पुत्री व राबड़ी देवी की बहू ऐश्वर्या राय के बीच चल रहे विवाद से काफी आक्रोशित थे।


उन्होंने बंद के दौरान खुद को इस बंदी से अलग भी रखा व बंदी की समाप्ति के बाद जमकर आक्रोश जताया। लालू-राबड़ी परिवार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। पूर्व मंत्री सह स्थानीय विधायक चंद्रिका राय समर्थक उमेश राय ने बताया कि राबड़ी देवी ने पूर्व मंत्री चंद्रिका प्रसाद की पुत्री के साथ दुर्व्यव्हार कर परसा की बेटी के साथ अत्याचार किया है जिससे परसा की जनता में आक्रोश हैं।


उन्होंने कहा कि परसा विधान सभा पूर्व में हुए लोस चुनाव में पचासी हजार वोटों से बढ़त दिलाने वाली विधानसभा है लेकिन अब यहां राजद का जो भी प्रत्याशी चुनाव लड़ने आएगा उसे कार्यकर्ता धूल चटाकर व जमानत जब्त करा कर ही दम लेंगे। इसके पूर्व राजद के बागी कार्यकर्ताओं ने राबड़ी के पुतले के साथ परसा में जुलूस निकाला और राबड़ी देवी मुर्दाबाद के नारे लगाए।