बिहार का मुख्य विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) पांच जुलाई को पार्टी के 25 वें स्थापना दिवस समारोह से पहले लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के संस्थापक स्वर्गीय रामविलास पासवान की जयंती मनाएगा। राजनीतिक गलियारों में ऐसा माना जा रहा है कि तेजस्वी यादव अपने इस कदम से चिराग को अपनी ओर खींचने की कोशिश कर रहे हैं। 

पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं बिहार के पूर्व मंत्री श्याम रजक ने रविवार को यहां बताया कि 5 जुलाई को पार्टी के स्थापना दिवस समारोह के उद्घाटन से पहले लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के संस्थापक एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की जयंती मनाई जाएगी । इसके बाद ही पार्टी का कार्यक्रम शुरू होगा। उन्होंने कहा कि पार्टी का स्थापना दिवस समारोह कोरोना प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन करते हुए मनाया जाएगा। 

रजक ने कहा कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव दिल्ली से वर्चुअल माध्यम से समारोह का उद्घाटन करेंगे। विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव के साथ ही सभी राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष, राष्ट्रीय और प्रदेश पदाधिकारी भी वर्चुअल कार्यक्रम में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि स्थापना दिवस की तैयारी को लेकर प्रखंड स्तर तक वर्चुअल बैठक की जाएगी। इस तैयारी बैठक में पार्टी के सभी विधायक भी शामिल होंगे। गौरतलब है कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले के मामले में जमानत मिलने के बाद स्वास्थ्य कारणों से दिल्ली में अपनी बड़ी पुत्री एवं राज्यसभा सांसद मीसा भारती के आवास पर चिकित्सकों की देखरेख में रह रहे हैं। वैसे तो राजद का स्थापना दिवस पहले भी मनाया जा रहा था लेकिन यादव की मौजूदगी नहीं होने से यह दिन कुछ खास तरीके से नहीं मनाया जा रहा था। इस बार यादव वर्चुअल तरीके से पार्टी के लोगों को संबोधित करेंगे और उसी को लेकर कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह है।