प्रदेश भाजपा प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा है कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के अहंकार के कारण राजद के वरिष्ठ नेता दल छोड़ने को विवश हो गए हैं। हर दिन राजद छोड़ने वालों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। अब उनके राष्ट्रीय स्तर के नेताओं शिवानंद तिवारी ने भी किनारा करना शुरू कर दिया है।
प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि राजद में मची इस भगदड़ के पीछे पार्टी छोड़ने वालों की अवसरवादिता के साथ-साथ इनके युवराज का अहंकार एक बहुत बड़ा कारण है। अपने करीबियों की तर्ज पर ही तेजस्वी बोलते हैं। वह जैसा समझाते हैं तेजस्वी वैसा ही करते हैं। अपने से कहीं उम्रदराज और अनुभवी नेताओं को किनारे करना, झूठ और दुष्प्रचार के सहारे बार-बार अपनी राजनीति चमकाने का प्रयास करना तेजस्वी की आदत हो गई है।
यही कारण है कि राजद में असंतुष्टों की जमात बढती ही जा रही है। आने वाले समय में इनकी कलह और बढ़ने वाली है जिससे इनकी पार्टी में टूटने की संभावना और गहरी हो गयी है। वंशवाद के कारण पार्टी के मुखिया बन बैठे तेजस्वी को न तो संगठन का ज्ञान है और न ही कार्यकर्ताओं की भावनाओं का ख्याल है।