आईपीएल के 12वें सीजन में राजस्थान का हिस्सा युवा ऑलराउंडर रियान पराग कहते हैं कि वो ज्यादा सोचकर अपने आप को दबाव में नहीं लाना चाहते हैं। पराग ने कहा कि वह सिर्फ सामने आए मौकों को भुनाना चाहते हैं, जिसके लिए वे पूरी तरह से तैयार हैं। राजस्थान को शनिवार को फिरोज शाह कोटला स्टेडियम में मेजबान दिल्ली ने पांच विकेट से हरा दिया। इस हार के साथ ही राजस्थान की प्लेऑफ की उम्मीदें खत्म हो गई हैं।

मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन पराग ने कहा, दबाव तब होता है जब आप उसके बारे में सोचते हैं और मैं इसके बारे में ज्यादा नहीं सोचना चाहता। मैं चीजों को आसान तरीके से लेना चाहता हूं। अगर आप पूरी प्रक्रिया के बारे में सोचेंगे कि आपको यह करना है, वो करना है तभी आप ज्यादा सोचने लगेंगे और दबाव आपके ऊपर होगा। 17 साल के इस युवा के मुताबिक, इस समय मैं अपने सामने आने वाले मौके के लिए पूरी तरह से तैयार हूं। मेरा काम अच्छा करना और अपना सौ फीसदी देना है। परिणाम मेरे हाथ में नहीं हैं। मेरे सामने जो मौका आएगा, मैं उसे भुनाने के लिए तैयार करना चाहता हूं और तैयार हूं।

पराग असम से आते हैं और अपने राज्य की टीम का अहम हिस्सा भी हैं। असम के प्रदर्शन और घर लौट पर दोबारा राज्य की टीम के साथ जुड़ने के सवाल पर पराग ने कहा, हम बीते तीन साल से पेशेवर खिलाड़ियों के बिना खेल रहे हैं। पहले दो साल हमें एक भी जीत नहीं मिली। पिछले साल हमने अच्छा किया। मुझे लगता है कि असम क्रिकेट काफी जल्दी और तेजी से आगे बढ़ रही है। हमने इस सीजन कई उलटफेर किए, हमने बंगाल, हरियाणा जैसी टीमों को हराया। हम इस बारे में नहीं सोचते हैं कि हम किसके खिलाफ खेल रहे हैं, कहां खेल रहे हैं। हम सिर्फ अच्छी क्रिकेट खेलना चाहते हैं। पराग ने दिल्ली के खिलाफ 49 गेंदों पर चार चौके और दो छक्कों की मदद से 50 रनों की पारी खेली। उनकी पारी के दम पर भी राजस्थान टीम 100 के पार पहुंचने में सफल हो सकी।