केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने रामजस कॉलेज में हुए घटनाक्रम पर सोमवार को कहा कि देश जब-जब कमजोर पड़ा है उस पर विदशी हमले हुए हैं। करगिल युद्ध में मारे गए एक सैनिक की पुत्री और लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा गुरमेहर कौर के इस बयान पर कि उसके पिता को पाकिस्तान ने नहीं बल्कि युद्ध ने मारा है, रिजिजू ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ट्विटर पर कहा कि वह नहीं समझ पा रहे कि इस नन्हीं से बच्ची के दिमाग में ऐसा जहर कौन भर रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत ने कभी किसी पर हमला नहीं किया लेकिन जब-जब देश कमजोर पड़ा है, उस पर हमले हुए हैं। गृह राज्य मंत्री ने रामजस कॉलेज में लगे देश विरोधी नारों के संदर्भ में कहा कि कुछ लोग कहते हैं कि उन्हें भारत में आजादी चाहिए लेकिन उन्हें उन लोगों की आवाज भी सुननी चाहिए जो पड़ोसी देशों में अत्याचार सहने के बाद भारत में आकर शरण लेते हैं। ये बातें इस बात का संकेत हैं कि भारत में स्थितियां पड़ोसी देशों से ज्यादा बेहतर हैं।

गुरमेहर कौर का यह बयान कि उसे भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध बेहतर बनाने की राय जाहिर करने के कारण कई तरह की धमकियां मिल रही हैं, सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। उसने यह भी कहा है कि उसे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् से कोई डर नहीं है।

सहवाग ने ली चुटकी

करगिल शहीद की बेटी की वीरेंद्र सहवाग ने अपने अंदाज में चुटकी ली है। ट्विटर पर पोस्ट किए गए वीडियो में गुरमेहर एक तख्ती लिए नजर आई थीं। इस पर लिखा था, 'मेरे पिता को पाकिस्तान ने नहीं, वॉर ने मारा था।' इस पर सहवाग ने भी ट्विटर पर तख्ती के साथ अपना एक फोटो पोस्ट किया है। इस पर लिखा है, 'दो ट्रिपल सेन्चुरी मैंने नहीं मारी थीं, यह मेरे बैट ने किया था।'