दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के पिता के के सिंह द्वारा सुशांत आत्महत्या मामले में पटना के एक थाने में एफआइआर दर्ज कराए जाने के बाद उनकी गर्लफ्रेंड रही रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मनशिंदे ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दर्ज कराई है। याचिका में कहा गया है कि सुशांत केस की जांच को मुंबई ट्रांसफर कराया जाए क्योंकि मुंबई में ही उनके केस की जांच पेंडिंग है। वहीं, सुशांत की बहन, चचेरे भाई और फैंस ने ओरापित एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार कर सच सामने लाने की मांग की है। कंगना रनोत की टीम ने भी उनकी तरफ से लगाए पुराने आरोपों को फिर से ट्वीट किया है। एफआइआर दर्ज होने के बाद जाने-माने वकील सतीश माने शिंदे की जूनियर आनंदिनी फर्नांडिस रिया के घर पहुंची।

रिपोर्ट के अनुसार, बिहार पुलिस ने सुशांत के करीबियों से पूछताछ की। हालांकि रिया से ना तो पुलिस सम्पर्क कर पाई और ना ही वह घर पर मिली। रिया से पूछताछ ले लिए बिहार पुलिस अब नोटिस देने पर विचार कर रही है। पुलिस का कहना है कि जरूरत पड़ी तो इस मामले में मदद के लिए महिला पुलिस अधिकारी की सहायता ली जाएगी। सुशांत की बहन के भी स्टेटमेंट रिकॉर्ड किए जाएंगे। पुलिस ने इस केस से जुड़े हर पहलू की जानकारी मुंबई पुलिस से ली है।

इस मामले को लेकर बिहार में सत्ता और विपक्ष एक साथ खड़ी नजर आ रही है। दोनों पक्षों ने मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआइ) से कराने की मांग की है। भाजपा के प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि सुशांत एक ब्रिलियंट और टैलेंटेड अभिनेता थे। उन्होंने कहा, हम सुशांत के परिवार के साथ हैं। मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए, जिससे बिहार के बेटे को न्याय मिले। वहीं, कांग्रेस ने भी सीबीआई जांच की मांग दोहराई है। बिहार प्रदेश युवक कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने कहा कि सुशांत के पिता द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराने के आधार पर कहा जा सकता है कि सुशांत की मौत में कई राज छिपे हैं। इससे पहले मंगलवार को लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने भी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्घव ठाकरे से मामला सीबीआइ को सौंपने की सिफारिश की थी।

सुशांत के फैमिली लॉयर विकास सिंह ने एक टीवी इंटरव्यू में बताया कि सुशांत के परिवार का आरोप है कि उन पर किसी प्रोडक्शन हाउस का नाम लेने का दबाव बनाया जा रहा था। मुंबई पुलिस ने रिया से उस तरह पूछताछ नहीं की जैसा परिवार चाहता था। वहीं, मुंबई पुलिस ने कहा है कि प्रारम्भिक जांच मेंं परिवार ने इस तरह की मांग नहीं की थी। विकास का कहना है कि सुशांत के पिता ने करीब 4 महीने पहले बांद्रा पुलिस के डीसीपी से रिया की शिकायत की थी, लेकिन उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की गई। इसलिए सुशांत का परिवार इस केस की जांच पटना पुलिस से कराना चाहता था।

सुशांत के चचेरे भाई और पूर्व विधायक नीरज कुमार ने मांग की है कि रिया की गिरफ्तारी हो और उससे पूछताछ की जाए। सच सामने आएगा। बहन श्वेता सिंह ​कीर्ति ने कहा अगर सच मायने नहीं रखता तो कभी भी कुछ भी मायने नहीं रखेगा। सुशांत की करीबी दोस्त अंकिता लोखंडे ने भी अपने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया है जिसमें लिखा है 'सत्य की जीत हो।' फैंस इस पोस्ट को सुशांत के सुसाइड से जोड़ते हुए लगातार कमेंट कर रहे हैं। उधर, कंगना रनोत की टीम ने अपने ट्वीट्स में लिखा कि रिया और सुशांत की रिलेशनशिप एक साल से भी कम की थी। सुशांत ने उसका विश्वास किया। वह नई शुरुआत करना चाहता था। जब वह रिया से मिला तो मानसिक रूप से टूटा हुआ था। रिया ने इसका फायदा उठाया। टीम ने लिखा कि कंगना ने साफ तौर पर कहा कि सुशांत के कॅरियर और सम्मान को एक लॉबी ने खत्म किया तो दूसरी ने उसे मानसिक और भावनात्मक रूप से लिंच किया। टीम ने आगे कहा कि मूवी माफिया ने कंगना के खिलाफ गिरफ्तारी का कैंपेन चला रखा है। अगर ऐसा होता है तो उनके लिए बॉलीवुड माफिया को एक्पोज करना ज्यादा आसान होगा।