नई दिल्ली। आज के समय में पानी की एक बोतल का यूज लगभग हर व्यक्ति करता है, लेकिन इसके घातक परिणामों के बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं. जी हां, रियूज़ेबल वाटर बॉटल आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत खतरनाक होती है जिसके चलते कितनी ही बीमारियां लग सकती हैं. दरअसल, ऐसा हम नहीं कह रहे बल्कि एक स्टडी में ये दावा किया गया है. क्योंकि इस शोध में पता चला है कि दोबारा यूज़ में ली जा सकने वाली बोतलों में टॉयलेट सीट की तुलना में लगभग 40,000 गुना ज्यादा बैक्टीरिया मौजूद होते हैं. ऐसे में यदि आप भी एक ही बोतल का इस्तेमाल लंबे समय से कर रहे है तो जरा सावधान हो जाएं.

यह भी पढ़ें : हल्के में नहीं लें खांसी और बुखार, कोरोना के बाद अब आया ये खतरनाक वायरस

बोतल की स्वच्छता को लेकर जांच

आपको बता दें कि अमेरिका स्थित वॉटरफिल्टरगुरु डॉट कॉम के रिसर्चर्स की एक टीम ने रोज काम में ली जाने वाली पानी के बोतल की स्वच्छता पर जांच की है. उन्होंने बोतल के सभी हिस्सों की 3 बार जांच की. इसमें सामने आया कि बोतल पर 2 प्रकार के बैक्टीरिया मौजूद थे. इनमें ग्राम-नेगेटिव बैक्टीरिया और बैसिलस बैक्टीरिया शामिल हैं. ग्राम-नेगेटिव बैक्टीरिया तरह-तरह के इन्फेक्शन्स पैदा करता. वहीं, जबकि बेसिलस बैक्टीरिया गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल प्रॉब्लम्स पैदा करते हैं. इस शोध में बोतलों की सफाई की घरेलू चीज़ों से तुलना की गई और पाया गया कि बोतलों में रसोई के सिंक से भी दोगुना ज्यादा कीटाणु मौजूद होते हैं. 

बोतल रियूज करना खतरनाक है!

शोधकर्ताओं की इस टीम ने कहा कि एक कंप्यूटर के माउस में जितने बैक्टीरिया होते हैं, उसका चार गुना ज्यादा पानी की बोतलों में होते हैं. एक पालतू जानवर के पानी पीने के कटोरे में जितने बैक्टीरिया होते हैं, उससे 14 गुना ज्यादा बैक्टीरिया पानी की बोतल में होते हैं. ऐसे में यह नया शोध डराने वाला है. क्योंकि आज के समय में बड़ी संख्या में लोग पानी की एक ही बोतल को कई बार यूज़ करते हैं.

यह भी पढ़ें : लॉन्च हुआ भारत का सबसे सस्ता AC, गर्मी में घर को बना देगा शिमला जैसा ठंडा

गर्म पानी से धोएं पानी की बोतल

एक्सपर्ट्स के मुताबिक पानी की बोतलें लोगों के मुंह में पहले से मौजूद बैक्टीरिया की वजह से दूषित होती हैं. रिसर्चर्स ने बोतलों को दोबारा यूज करने से पहले एक दिन में कम से कम एक बार साबुन और गर्म पानी से धोने की सलाह दी है.