पानी से सोना बनाया जा सकता है, सुनने में अजीब लगने वाली यह बात सच है। शोधकर्ताओं ने यह अद्भुत कारनामा कर दिखाया है। प्राग की चेक अकेडमी ऑफ साइंसेज में यह कारनामा फिजिकल केमिस्ट्स ने किया है। उन्होंने अपने प्रयासों से पानी को चमकीली सोने जैसी धातु में तब्दील कर दिया। इस प्रयोग के लिए एक खास तकनीक का उपयोग किया गया।

आमतौर पर किसी चीज पर बहुत ज्यादा प्रेशर डालने से वह धातु में तब्दील हो सकती है। इसमें मौजूद ऐटम या मॉलिक्यूल इतने ज्यादा करीब आ जाते हैं कि इनके बाहरी इलेक्ट्रॉन शेयर होते हैं। इनके जरिए बिजली कंडक्ट हो सकती है। ऐसा ही 1.5 करोड़ अटमॉस्फीरिक प्रेशर पानी पर देने से हो सकता है जो मौजूदा लैब तकनीक में करना संभव नहीं है।

नए अध्ययन के सह-लेखक पावेल जंगवर्थ ने इसके लिए दूसरा तरीका निकाल लिया। इलेक्ट्रॉन शेयरिंग के लिए उन्होंने अलेक्ली मेटल का इस्तेमाल किया। ये सोडियम-पोटैशियम जैसे रिऐक्टिव एलिमेंट्स का समूह होता है। ऐसा करना चुनौती पूर्ण था क्योंकि पानी के संपर्क में आने पर ये विस्फोटक में तब्दील हो जाते हैं। इसके लिए ऐसा एक्सपेरिमेंट  किया गया जिससे रिऐक्शन धीमा हो जाए और विस्फोट न हो।

इसके लिए एक सीरिंज को पोटैशियम और सोडियम से भरा गया जो सामान्य तापमान पर तरल होता है और इसे वैक्यूम चेंबर में रख दिया गया। इसके बाद सीरिंज से इस मिश्रण की बूंदें निकाली गईं, जिसे कम मात्रा में भाप दी गई। इन बूंदों पर पानी कुछ सेकंड के लिए जमा हो गया। मिश्रण की बूंदों से इलेक्ट्रॉन पानी में चले गए और कुछ सेकंड के लिए पानी सुनहरा हो गया।