नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में इस साल गणतंत्र दिवस परेड (republic day parade) में 16 पैदल दस्ते, 17 सैन्य बैंड और विभिन्न राज्यों, विभागों और सशस्त्र बलों की 25 झांकियां हिस्सा लेंगी। यह जानकारी भारतीय सेना (Indian Army) की ओर से शनिवार को जारी एक बयान में दी गई है। यह भी कहा गया है कि गणतंत्र दिवस परेड-2022 (Republic Day Parade-2022) में सेना का प्रतिनिधित्व एक घुड़सवार दल, 14 मशीनीकृत दल, छह पैदल टुकड़ियों और विमानन विंग के उन्नत हल्के हेलीकॉप्टरों के एक फ्लाईपास्ट द्वारा किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार सेना के मशीनीकृत दल में एक पीटी-76 टैंक, एक सेंचुरियन टैंक, दो एमबीटी अर्जुन एमके-आई टैंक, एक एपीसी टोपस बख्तरबंद वाहक, एक बीएमपी-I पैदल सेना लड़ाकू वाहन और दो बीएमपी-II पैदल सेना लड़ाकू वाहन दिखाई देंगे। इसके अलावा एक 75/24 पैक हॉवित्जर, दो धनुष हॉवित्जर, एक पीएमएस पुल निर्माण प्रणाली, दो सर्वत्र पुल निर्माण प्रणाली, एक एचटी -16 इलेक्ट्रॉनिक युद्ध प्रणाली, दो तरण शक्ति इलेक्ट्रॉनिक युद्ध प्रणाली, एक टाइगर कैट मिसाइल प्रणाली और दो आकाश मिसाइल प्रणाली भी मशीनीकृत दल का हिस्सा होगी।

जानकारी के अनुसार, भारतीय सेना (Indian Army) की छह पैदल टुकड़ियां राजपूत रेजिमेंट, असम रेजिमेंट, जम्मू-कश्मीर लाइट इन्फैंट्री, सिख लाइट इन्फैंट्री, आर्मी ऑर्डनेंस कॉर्प्स रेजिमेंट और पैराशूट रेजिमेंट भी इसमें हिस्सा लेंगी। भारतीय वायु सेना और भारतीय नौसेना का एक-एक पैदल दस्ता भी परेड में हिस्सा लेगा। इसके अलावा केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की ओर से, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), केंद्रीय औद्योगिक पुलिस बल (सीआईएसएफ), सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी), भारतीय तटरक्षक बल (आईसीजी) और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के पांच पैदल दस्ते परेड में हिस्सा लेंगे।

कुल मिलाकर, सशस्त्र बलों, केंद्रीय अर्धसैनिक बलों (central paramilitary forces), दिल्ली पुलिस, राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी), राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के 16 पैदल दस्ते, 17 सैन्य बैंड, पाइप और ड्रम बैंड इसमें हिस्सा लेंगे। परेड के शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) राष्ट्रीय समर स्मारक पर माल्यार्पण करेंगे और देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले सैनिकों को श्रद्धांजलि देंगे। बता दें कि परेड सुबह 10.30 बजे शुरू होगी और दोपहर 12 बजे तक चलेगी। इसके अलावा विभिन्न राज्यों, विभागों और सशस्त्र बलों की पच्चीस झांकियां परेड का हिस्सा होंगी।