किडनी स्टोन आपकी सेहत पर बुरा प्रभाव डाल सकते हैं। इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि किडनी स्टोन के लक्षण (Symptoms Of Kidney Stone) पहचान कर आप समय रहते इसके लिए इलाज तलाश लें।

 पथरी का रोग बहुत ही पीड़ादयक है।  और यह दर्द अचानक से उठता है।  पथरी जब मूत्रनली में आ जाती है तब रोगी को तेज दर्द होता है।  यह दर्द सहने योग्य नहीं होता।  पथरी का उपचार लाइलाज नहीं है।  आयुर्वेद में इसका इलाज संभव है।  आज हम आपको बता रहे हैं  पथरी दूर करने के कारगर घरेलू उपाय। 

कच्चे पालक का रस – पथरी को दूर करने के लिए रोगी को नियमित रूप से कच्चे पालक का रस कुछ समय तक लगातार पीते रहना चाहिए एैसा करने से यह रोग जल्दी ठीक हो सकता है। 

चुकन्दर का रस – चुकन्दर का रस लगातार पीने से भी पथरी बनना रूक जाता है।  चुकन्दर को पानी में उबालकर उसका सूप का सेवन करने से भी पथरी बननी खत्म हो जाती है। 

सेब का जूस – नियमित रूप से सेब का जूस पीने से पथरी का रोग कभी नहीं होगा।  क्योंकि यह पथरी को शरीर में बनने नहीं देता। 

गाजर का ताजा जूस – दिन में 3 से 4 बारी तक गाजर का ताजा जूस पीने से मूत्राशय और गुर्दे की पथरी पेशाब के रास्ते बाहर आ जाती है। 

छुआरा – छुहारे भी पथरी रोग से निजात दिलवाने में सहायक होते हैं।  कुछ दिनों तक लगातार छुहारों का सेवन करने से भी पथरी का रोगी ठीक हो सकता है।