बिकिनी गर्ल्स से घिरे रहने वाले तुर्की के एक इस्लामिक धर्मगुरु को खतरनाक सजा मिली है। इसको यौन उत्पीड़न सहित कुछ मामलों में 8658 साल की जेल की सजा सुनाई गई है. यह धर्म गुरू धार्मिक 'उपदेश' देते समय बिकिनी गर्ल्स से घिरा रहता था. इसको लेकर दूसरे धार्मिक नेताओं ने उसकी कई बार आलोचना भी की थी. वह दूसरों को तो 'उपदेश' देता था मगर खुद महिलाओं संग आपत्तिजनक हरकतें करता था. बच्चों के यौन शोषण, रेप, धोखाधड़ी, राजनीतिक और सैन्य जासूसी के अपराध को अंजाम देने के लिए उसे 8658 साल की कैद की सजा दी गई है.

कांग्रेस ने बोम्मई पर मतदाता डेटा चोरी का आरोप लगाते हुए की इस्तीफे की मांग

इस मामले में पहले उसे 1075 साल जेल की हुई थी, लेकिन बीते बुधवार को कोर्ट ने फैसले को पलटते हुए उसकी सजा में वृद्धि कर दी. अब उसे 8658 साल की जेल की सजा मिली है. इस्तांबुल में रहने वाले 66 साल के इस धार्मिक नेता का नाम अदनान ओकतार (Adnan Oktar) है. अदनान टीवी पर इस्लामिक उपदेश देता था. इस दौरान उसके चारों तरफ कई महिलाएं मौजूद रहती थीं. वह इन्हें Kitten कहकर बुलाता था. 

वैसे तो अदनान परंपरा और रूढ़िवादी विचारों पर बातें करता था, लेकिन उसके आसपास मौजूद महिलाएं मॉडर्न और कम कपड़ों में नजर आती थीं. अदनान खुद मॉडर्न ड्रेस पहनता था. वह अक्सर पार्टियां करता और देश-विदेश की हस्तियों को अपने प्रोग्राम में बुलाता था. इस बीच कई महिलाओं ने उस पर शोषण का आरोप लगाया. जबकि कुछ लोगों ने अदनान पर बंधक बनाने का भी आरोप लगाया. उसके आश्रम में तगड़ी सुरक्षा रहती थी. लेकिन फिर भी सेडा इसिल्डर नाम की एक लड़की वहां से भागने में सफल रही थी.

बुन्देलखंड में समय से पहले ध्वस्त हो रही सड़कों को बचाने के लिये दिल्ली भेजी गयी मिट्टी की जांच

सेडा इसिल्डर ने संडे टाइम्स को बताया था कि यहां उसकी ब्यूटी सर्जरी करवाई गई, वो भी बिना किसी पेन किलर के. उस वक्त सेडा स्कूल की छात्रा थी. उसे शादी करने के लिए भी मजबूर किया गया था. कोर्ट में एक अन्य महिला ने गवाही दी थी कि अदनान ने उसका और दूसरी कई महिलाओं का यौन उत्पीड़न किया. उसने यह भी कहा कि उन्हें गर्भनिरोधक गोलियां लेने के लिए मजबूर किया जाता था. अदनान के आश्रम में महिलाओं को सेक्स स्लेव की तरह रखा जाता था. जांच के दौरान पुलिस को अदनान के घर से 69,000 गर्भनिरोधक गोलियां मिली थीं.

इस मामले में 16 नवंबर 2022 को इस्तांबुल कोर्ट ने यौन अपराध समेत अन्य आरोपों को लेकर अदनान को 8,658 साल की सजा सुनाई. कोर्ट ने ये भी कहा कि उसने कई लोगों को कैद कर रखा था. कोर्ट ने 14 अन्य लोगों को भी 8,658 साल की सजा दी है. अदनान ओकतार और उसके सहयोगियों के खिलाफ पहला फैसला जनवरी 2021 में सुनाया गया था.