धर्म को दुनिया में सबसे ऊपर माना गया है। सभी लोग अपने-अपने धर्म के हिसाब से अपना जीवन बिताते हैं और उसके हानि पहुंचती है तो धार्मिक लोग उसके अपनी जान तब दे देते हैं। इसी से जुड़ी एक खतरनाक घटना फ्रांस में घटीत हुई है। फ्रांस में स्कूल के अंदर टीचर ने पैगंबर मोहम्मद का कार्टून बच्चों को दिखाए जाने से नाराज एक शख्स ने टीचर को मौत के घाट उतार दिया।

आरोपी शख्स नाबालिक था उसने पहले अल्लाह हू अकबर के नारे लगाकर टीचर का गला रेत दिया। हैरान कर देने वाली बात तो ये है कि पुलिस जब इस मामले की कार्रवाई की तो हमलावर युवक की मौत हो गई है। स्थानीय राजधानी पेरिस के एक स्कूल के टीचर सैमुअल ने बच्चों को अभिव्यक्ति की आजादी के बारे में पढ़ाते हुए पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाया था। जिससे हमलावर नाराज हो गया था।


हमलवार चाकू लेकर टिचर के पास पहुंचा और अल्लाह हू अकबर के नारे लगाते हुए टीचर का गला काट दिया और हमलावर ने सरेंडर करने के बजाये पुलिस को ही डराने की कोशिश की फिर पुलिस ने हमलावर पर गोली चला दी। पुलिस ने खुलासा किया कि 18 वर्षीय हमलवार संदिग्ध इस्लामिक आतंकवादी था। इस मामले पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन ने घटना की निंदा करते हुए इसे इस्लामिक आतंकी  हमला करार दिया है।