देश इस वक्त कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है। इस वजह से ऑक्सीजन की मांग बहुत बढ़ गई है और इसकी किल्लत भी शुरू हो गई। कोरोना से पीड़ित गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत बहुत पड़ रही है। अब कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों को मोदी सरकार की ओर से बड़ी राहत मिली है। दरअसल, सरकार ने पर्सनल यूज के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के आयात पर इंटीग्रेटेड जीएसटी को 28 फीसदी से घटाकर 12 फीसदी किया।

दूसरी ओर सरकार ने वायरस रोधी दवा रेमडेसिविर की 4।5 लाख खुराक मंगाने के लिए आर्डर दिया है जिसमें से 75,000 शीशियों की पहली खेप शुक्रवार को भारत पहुंच जाने की उम्मीद है। उर्वरक एवं रसायन मंत्रालय ने एक बयान में यह जानकारी दी है।

मंत्रालय ने कहा है कि देश में इस दवा की कमी को दूर करने के लिये सरकार ने रेमडेसिविर का आयात करना शुरू किया है। इसकी 75 हजार शीशियों की पहली खेप शुक्रवार को भारत पहुंच जाएगी। मंत्रालय की बयान में कहा गया है कि सरकारी कंपनी एचएलएल लाईफकेयर लिमिटेड ने साढे चार लाख रेमडेसिविर की खुराक के लिए अमेरिका की कंपनी मैसर्स गिलीड साइंसिज इंक और मिस्र की दवा कंपनी मैसर्स इवा फार्मा को आर्डर दिया है।

देश में कोरोना ने पहली मई को ही सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। देश में शनिवार को पहली बार रिकॉर्ड चार लाख से अधिक नए कोरोना मरीज मिले हैं और 3523 की जान चली गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटों में देश में पहली रिकॉर्ड 4,01,993 नए कोरोना मरीज मिले हैं। इसके साथ ही देश में कुल संक्रमितों की संख्या 1,91,64,969 पहुंच गई।  अब तक कुल 2,11,853 लोगों की हो चुकी है। वहीं, सक्रिय मामलों की कुल संख्या 32,68,710 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,56,84,406 है।