मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड अमेरिकी रिन्यूबल एनर्जी Ambri Inc. में लगभग 375 करोड़ रुपये निवेश करेगी. रिलायंस इडस्ट्रीज एनर्जी की पूर्ण स्वामित्व वाली सब्सीडियरी कंपनी रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर को इस निवेश के बदले 4.23 करोड़ प्रीफरेंस शेयर मिलेंगे. 

इस कंपनी में Paulson & co और बिल गेट्स का भी निवेश है. अंबानी का कंपनी में निवेश इसका एक हिस्सा है. रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर (Reliance New Energy Solar),पॉल्सन एंड कंपनी (Paulson & Co) और बिलगेट्स जैसे निवेशक Ambri में कुल 14.4 करोड़ डॉलर का निवेश करेंगे.

2010 में शुरू हुई Ambri ने लंबे समय तक चलने वाली बैटरी टेक्नोलॉजी विकसित है और अब वह इसकी बिक्री में लगी है. रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के मुताबिक इससे रीन्यूबल एनर्जी स्रोतों का बड़ा पैमाने पर इस्तेमाल हो सकेगा. इससे बिजली की लागत घटेगी और यह पावर सिस्टम को ज्यादा कारगर तरीके से काम करने में मदद करेगी.

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कहा है कि वह Ambri के साथ भारत में बैटरी मैन्यूफैक्चरिंग के लिए बड़ा संयंत्र लगाने पर भी बातचीत कर रही है. इससे कंपनी की ग्रीन एनर्जी के क्षेत्र में गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा. इससे रिलायंस को गुजरात के जामनगर में कंपनी को इंटरमिटेंट एनर्जी के स्टोरेज के लिए एक गीगा फैक्ट्री बनाने में भी मदद मिलेगी. 

कंपनी ने इस साल यहां धीरुभाई अंबानी ग्रीन एनर्जी कॉम्प्लेक्स बनाने का ऐलान किया था.रिलायंस के मुताबिक Ambri के पास 4 से 24 घंटे का एनर्जी स्टोरेज सिस्टम बनाने की टेक्नोलॉजी है. लंबी अवधि के स्टोरेज सिस्टम की वजह से कंपनी की लागतें घटेंगी.

रिलायंस ने कहा था कि कंपनी अपने ग्रीन इनिशिएटिव ( green initiatives) के तहत 60,000 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. इसके अलावा कंपनी का ग्रीन इनिशिएटिव के वैल्यू चैन के विकास से संबंधित पार्टनरशिप और फ्यूचर टेक्नोलॉजी पर 15000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त निवेश करने का भी इरादा है.