आईपीएल सीजन-10 में मंगलवार को पुणे और दिल्ली डेयर डेविल्स के बीच मैच खेला गया। पुणे के रेगुलर कप्तान स्टीव स्मिथ के बीमार होने की वजह से मैच में अजिंक्य रहाणे ने टीम की कप्तानी की। क्रिकेट फैंस इस बात से काफी हैराने थे कि महेन्द्र सिंह धोनी के होते हुए रहाणे से कप्तानी क्यों कराई गई। 

इसकी वजह धोनी की पत्नी साक्षी धोनी के एक फोटो को माना जा रहा है जो हाल ही में उन्होंने शेयर किया था। साक्षी ने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक फोटो शेयर किया था,जिसमें वे आईपीएल से सस्पेंड चल रही टीम चेन्नई सुपरकिंग्स का हेलमेट और ड्रेस पहने दिख रही थी। इस फोटो को शेयर करते हुए साक्षी ने कैप्शन में लिखा था,थ्रो बैक। कहा जा रहा है कि इसी फोटो और चेन्नई सुपर किंग्स के प्रति उनके प्यार को देखते हुए मैच में धोनी को कप्तानी ना देकर रहाणे के हाथ में कमान दी गई। 

साक्षी ने यह फोटो पुणे टीम के सह मालिक हर्ष गोयनका को जवाब देने के लिए शेयर किया था। गोयनका ने महेन्द्र सिंह धोनी को नीचा दिखाने की कोशिश की थी। गौरतलब है कि धोनी को लेकर पुणे टीम में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। पहले तो आईपीएल शुरू होने से पहले धोनी को कप्तानी से हटाकर स्टीव स्मिथ को कैप्टन बना दिया गया। वहीं पहले मैच में मिली जीत के बाद पुणे टीम के सह मालिक हर्ष गोयनका ने एक ट्वीट करते हुए धोनी पर निशाना साधा। उन्होंने धोनी को स्मिथ से कमतर बताया। 

गोयनका ने ट्वीट किया था कि स्मिथ ने साबित कर दिया है कि जंगल का राजा कौन है। उन्होंने अपनी कप्तानी वाली इनिंग से धोनी को पूरी तरह ढंक दिया। उन्हें टीम का कप्तान बनाने का फैसला बिल्कुल सही था। विवाद होने पर गोयनका ने यह ट्वीट डिलीट कर दिया था लेकिन दूसरे मैच में टीम की हार के बाद उन्होंने एक और नया ट्वीट किया। इसमें भी धोनी को निशाने पर लिया। ट्वीट के साथ गोयनका ने एक फोटो भी पोस्ट किया,जिसमें सभी बल्लेबाजों के बीच धोनी की स्ट्राइक रेट सबसे कम दिख रही थी। 

साक्षी ने चेन्नई सुपर किंग्स की ड्रेस में जो फोटो शेयर किया,उसे हर्ष गोयनका को दिया गया जवाब ही माना जा रहा है। शायद साक्षी उन्हें ये बताना चाहती थी कि वो भी पुणे के साथ खुश नहीं है और चेन्नई टीम की वापसी का बेसब्री से इंतजार कर रही है। फोटो को शेयर करने के बाद साक्षी ने एक और फोटो शेयर किया जिसमें कर्मों को लेकर नियम बताए गए हैं। इसमें कहा गया है कि सबका वक्त एक सा नहीं रहता और गलत काम करने वालों को सजा जरूर मिलती है।