चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Singh Channi) के भाई मनोहर सिंह (Manohar Singh) ने कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। शुक्रवार को उन्होंने प्रदेश के बस्सी पठाना विधानसभा सीट (Bassi Pathana Assembly seat) से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन दाखिल किया है। बता दें कि कांग्रेस ने फतेहगढ़ साहिब जिले के बस्सी पठाना सीट से मौजूदा विधायक गुरप्रीत सिंह जीपी (MLA Gurpreet Singh GP) को उम्मीदवार बनाया है। पार्टी का टिकट नहीं मिलने के बाद सिंह ने इससे पहले कहा था कि वह विधानसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ेंगे।

सिंह ने मीडिया को बताया कि वह बस्सी पठाना के लोगों की इच्छानुसार इस सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। एक सवाल के जवाब में सिंह ने कहा कि उनकी किसी से कोई नाराजगी नहीं है और ‘कोई विद्रोह नहीं है।’ बता दें कि सिंह ने पिछले साल खरड़ के सदर असपताल से वरिष्ठ चिकित्सा पदाधिकारी के पद से इस्तीफा दे दिया था। हाल ही में सीएम चन्नी के कजिन भाई जसविंदर सिंह धालीवाल (cousin brother Jaswinder Singh Dhaliwal) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) का दामन थाम लिया था।

गौर हो कि पंजाब विधानसभा का सत्र (session of punjab assembly) मार्च में खत्म हो रहा है। राज्य में 20 फरवरी को एक ही चरण में मतदान होगा। इससे पहले वोटिंग के लिए 14 फरवरी की तारीख तय की गई थी। साल 2017 में हुए चुनाव में कांग्रेस ने राज्य में 77 सीटों पर जीत के साथ पूर्ण बहुमत हासिल किया था। वहीं, आम आदमी पार्टी 20 सीटों के साथ दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी।'