महाराष्ट्र विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दारेकर ने मुंबई जिला केंद्रीय सहकारी बैंक में 123 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की जांच शुरू करने को लेकर गुरूवार को उपमुख्यमंत्री अजीत पवार पर निशाना साधा और पुणे जिला केंद्रीय सहकारी बैंक में 300 करोड़ रुपये के कंप्यूटर और फर्नीचर खरीदने के लिए इसी तरह की जांच कराने की मांग की। 

दारेकर ने आज यहां संवाददाताओं से कहा कि अगर यह सरकार, पारदर्शी सरकार है तो वह जांच का सामना करने के लिए तैयार हैं लेेकिन उन्हें पुणे जिला केंद्रीय सहकारी बैंक की भी जांच करनी होगी। उन्होंने पवार पर निशाना साधा और कहा कि अगर आपके पास मुंबई जिला केंद्रीय बैंक धोखाधड़ी में उनके खिलाफ कोई सबूत है, तो जांच करें, वह जांच का सामना करने के लिए तैयार हैं। 

धोखाधड़ी के समय बैंक में छह निदेशक थे जो पवार के बहुत करीब थे। इसके बाद क्या होगा, आपको (श्री पवार) सामना करना पड़ेगा। दारेकर ने पुणे जिला केंद्रीय सहकारी बैंक के संबंध में कहा कि, वह प्रवर्तन निदेशालय, केंद्रीय जांच ब्यूरो और केंद्र सरकार के पास शिकायत दर्ज कराने जा रहे हैं।