कोरोना वायरस के कारण आई आर्थिक मंदी से देश को बहुत नुकसान हुआ है। लेकिन इस नुकसान में भी केंद्र सरकार लोगों के लिए आर्थिक व्यवस्था कर रही है। कोरोना लॉकडाउन में लोगों की जरूरतों को पुरा करने के लिए 20 लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज दिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा आर्थिक राहत पैकेज का ब्योरा दिए जाने के बाद अब RBI प्रमुख शक्तिकांत दास भी इसके बारे में नए ऐलान किए हैं।

Update:-

1.    ईएमआई होल्ड करने की बढ़ी अवधि, तीन महीने और बढ़ने से अब 6 महीने के मोरटोरियम की सुविधा हो गई है।

2.    ब्याज दरों में होगी कटौती, होम लोन, कार लोन, पर्सनल लोन सहित सभी तरह के कर्ज पर ईएमआई सस्ती।
3.    जीडीपी ग्रोथ रेट पर एक्सपोर्ट क्रेडिट समय 12 महीने से बढाकर 15 माह तक किया

4.     बढ़ेगी महंगाई, लॉकडाउन की वजह से अनाजों की आपूर्ति एफसीआई से बढ़ाई गई।



जानकारी के लिए बता दें कि RBI प्रमुख शक्तिकांत दास आज सुबह 10 बजे मीडिया को 20 लाख करोड़ो के आर्थिक पैकेज के बारे में ब्रीफिंग करेंगे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि कोरोना महामारी के बीच घोषित किए गए कि 20 लाख करोड़ रुपये का पैकेज से अर्थव्य वस्थाआ को उबरने में मदद मिलेगी।


खबर दे दें कि निर्मला ने कहा कि पीएम गरीब कल्याण योजना में हमने कुछ कैश ट्रांसफर किया है, हम फिलहाल इस विकल्प  को बंद नहीं कर रहे हैं। इस तरह की योजना बनाई, वह प्रभावी साबित हुई है। आर्थिक सुधार को फिर से शुरू करने के लिए व्यवसायों को बढ़ावा देना अहम हिस्सेदारी बना रही है।