कांग्रेस के शीर्ष नेता राहुल गांधी ने नई दिल्ली में 9 वर्षीय "बलात्कार और हत्या" पीड़िता के परिवार से मुलाकात की है। दिल्ली के छावनी इलाके में रविवार को 9 साल की बच्ची के साथ कथित तौर पर रेप के बाद उसकी हत्या कर दी गई। राहुल गांधी ने कहा कि “दुर्भाग्यपूर्ण माता-पिता के आंसू बस एक ही बात की गुहार लगा रहे थे। अपनी बेटी के लिए न्याय, भारत की बेटी के लिए न्याय। और, न्याय के इस रास्ते में, मैं उनके साथ खड़ा हूं, ”।

नाबालिग बच्ची पीने का पानी लेने अपने घर के पास श्मशान घाट गई थी। लेकिन वह कभी घर नहीं लौटी। बाद में दाह संस्कार के पुजारी राधेश्याम ने दावा किया था कि हादसे में नाबालिग बच्ची को करंट लग गया। कलाई और कोहनी पर जलने के निशान थे और होंठ नीले थे, लड़की की मां ने कहा था। पुजारी और उसके साथियों ने कथित तौर पर लड़की के माता-पिता को पुलिस को सूचित न करने की धमकी भी दी थी।

हालांकि, गड़बड़ी को भांपते हुए नाबालिग पीड़िता के माता-पिता ने पुलिस को सूचना दी। इस बीच, पुलिस ने अपराध के सिलसिले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस ने कहा है कि "पोस्टमार्टम अनिर्णायक था"। गिरफ्तार किए गए चारों आरोपियों का अब पॉलीग्राफ और नारकोटिक्स टेस्ट होगा।