अयोध्या में बनने जा रहे राम मंदिर निर्माण के लिए दिहाड़ी मिस्त्री दानवीर बनकर सामने आया है जिसके दान को लेकर हर कोई हैरान है। आपको बता दें कि मंदिर निर्माण के लिए दान करने वाले ऐसे लोग भी हैं जिनकी आर्थिक हालात भले ही कमजोर हो, लेकिन भगवान राम में आस्था इतनी मजबूत कि वो अपनी दिन-रात की मेहनत की कमाई को भी दान में दे रहे हैं।

रतलाम में भगवान राम  के एक ऐसे ही भक्त हैं, राम कुमावत। कुमावत पेशे से मिस्त्री हैं और रोज के कुछ रुपये कमाने के लिए घर बनाने का काम करते हैं। कुमावत रोज घर से भगवान को हाथ जोड़कर इस आस्था के साथ निकलते हैं कि उन्हें आज कोई नया काम मिलेगा। उन्होंने राम जन्म भूमि अभियान समिति को 51 हजार रुपये का चेक दिया है।
राम जन्म भूमि अभियान समिति के पालक भी ऐसे लोगों की आस्था और सहयोग को देखकर हैरान हैं। इनका कहना है कि सम्पन्न लोग तो राम मंदिर निर्माण के लिए आगे आ ही रहे हैं, लेकिन ऐसे लोगों के सहयोग को देखकर लगता है कि राम मंदिर का मुद्दा लोगों के लिए सिर्फ आस्था का ही नहीं, बल्कि, भारत के हर हिंदू का एक बड़ा सपना था।