बीकेयू किसान नेता राकेश टिकैत हरियाणा के रामायण टोल प्लाजा पर किसानों को संबोधित करने पहुंचे।  उन्होंने कहा कि कर्फ्यू लगाकर सरकार किसानों के आंदोलन को खत्म करना चाहती है, लेकिन सरकार की चालबाजी को किसान समझ चुके हैं और किसान धरने को मांगें पूरी होने तक खत्म नहीं करेंगे। 

राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार पिछले चार दिनों से क्लीन दिल्ली की बात कर रही है, लेकिन सरकार ने किसानों को छेड़ने की कोशिश की तो एक घंटे के अंदर जवाब मिल जाएगा।  बताया जा रहा है कि राकेश टिकैत रामायण टोल प्लाजा पर धरने पर बैठे किसानों से मुलाकात करने पहुंचे थे।  इस दौरान उन्होंने किसानों में जोश भरते हुए कहा कि सरकार किसानों के सबसे बड़े आंदोलन को कुचलने के लिए सभी हथकंडे अपना रही है।  उन्होंने कहा कि किसान पूरी तरह से एकजुट है और सरकार के तरकीबों को समझते हैं। 

उन्होंने कहा कि स्कूलों को बंद करके सरकार बच्चों की शिक्षा को खत्म करना चाहती है।  हरियाणा के किसानों के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि हर समय हरियाणा का किसान सहयोग के लिए तैयार रहता है।  जब भी किसानों के लिए लड़ाई लड़ने की देश को जरूरत हुई है, हरियाणा के किसान आगे रहे हैं। 

इसके बाद राकेश टिकैत हांसी में नेता प्रेम मलिक के घर पहुंचे और यहां भी पत्रकारों से बातचीत की।  टिकैत ने कहा कि अगर सरकार किसानों को कोरोना टीका लगाना चाहती है तो वह वैक्सीनेशन करे, जिन्हें वैक्सीन लगवानी होगी वह लगवाएंगे। 

गौरतलब है कि राकेश टिकैत ने इससे पहले कहा था कि यदि सरकार आमंत्रित करती है तो नये कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान वार्ता के लिए तैयार हैं, बातचीत वहीं से शुरू होगी जहां 22 जनवरी को खत्म हुई थी और मांगों में कोई बदलाव नहीं है।  उन्होंने कहा कि वार्ता बहाली के लिए सरकार को प्रदर्शनकारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले संयुक्त किसान मोर्चा को वार्ता का निमंत्रण देना चाहिए।