खिलाडिय़ों के चोटों और बायो बबल थकावट के चलते आईपीएल 2021 से हटने से सबसे ज्यादा प्रभावित राजस्थान रॉयल्स ने टूर्नामेंट की अन्य फ्रैंचाइजी से खिलाड़ियों को लोन पर देने का आग्रह किया है। मौजूदा समय तक राजस्थान के पास चार विदेशी खिलाड़ी जोस बटलर, क्रिस मौरिस, डेविड मिलर और मुस्ताफिजुर रहमान बचे हैं जबकि अभी टूर्नामेंट में 60 फीसदी से ज्यादा मैच खेले जाने बाकी हैं।

राजस्थान ने बेन स्टोक्स और जोफ्रा आर्चर को चोटों के चलते गंवाया है जबकि लियाम लिविंगस्टोन और एंड्र्यू टाई बायो बबल की थकावट के कारण आईपीएल से हट गए हैं। संजू सैमसन की कप्तानी वाली राजस्थान की टीम अब तक निर्धारित 14 मैचों में से खेले गए पांच मैचों में दो जीत और तीन हार के साथ छठे स्थान पर है। आईपीएल की खेलने की शर्तों के अनुसार लोन विंडो सत्र के निर्धारित 20वें लीग मैच के अगले दिन सुबह नौ बजे शुरू होगी और सत्र के 56वें लीग मैच के अगले दिन दोपहर में बंद हो जायेगी। इसका मतलब है कि विंडो सोमवार को सुबह नौ बजे शुरू हो गयी। 

एक फ्रैंचाइजी के एक सीईओ ने पुष्टि करते हुए कहा, हमें दो दिन पहले एक आग्रह मिला था और हमने अभी उस पर फैसला नहीं किया है टीम प्रबंधन इस पर कोई फैसला करेगा। एक अन्य सीईओ ने कहा, हम इस बात पर विचार करेंगे कि क्या हम अपने बहुसंख्यक खिलाडिय़ों में से एक या दो खिलाड़ी उन्हें लोन पर दे सकते हैं। आईपीएल नियमों के अनुसार, एक खिलाड़ी जो लोन अवधि की शुरुआत के समय तक कम से कम दो मैचों में एकादश में खेल चुका हो या फिर कन्कशन रिप्लेस्मेंट के रूप में खेला हो, को लोन पर दिया जा सकता है। 

उसे एक सत्र में केवल एक बार लोन में दिया जा सकता है और यह लीग के पूरे शेष सत्र के लिए होना चाहिए। वह साथ ही अपनी घरेलू फ्रैंचाइजी के खिलाफ नहीं खेल सकता है। एक फ्रैंचाइजी अपने अधिकतम तीन खिलाड़ियों को सत्र के दौरान एक ही फ्रैंचाइजी को दे सकती है। लेकिन यहां साथ ही खिलाड़ियों की मंजूरी भी जरूरी है। उपरोक्त के अलावा लोन के लिए कुछ और भी कड़े नियम हैं लेकिन मौजूदा कोविड स्थिति और किन्हीं कारणों से खिलाड़ियों के आईपीएल छोड़ने से बीसीसीआई कुछ नियमों में ढील दे सकता है।