जयपुर। राजस्थान पत्रिका समूह के निदेशक मिलापचंद कोठारी का मंगलवार सुबह निधन हो गया। वे 69 वर्ष के थे। उन्होंने जयपुर में अंतिम सांस ली। अंतिम यात्रा उनके निवास "स्वस्ति, 11, हॉस्पिटल मार्ग, सी स्कीम" से आज शाम को 5:15 बजे आदर्शनगर मोक्षधाम जाएगी। उनके निधन पर कई नेताओं और सामाजिक संगठनों ने शोक व्यक्त किया है।

मिलाप जी पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे थे। 15 दिसम्बर, 1950 को जन्मे मिलाप कोठारी राजस्थान पत्रिका के संपादक भी रहे हैं। वे पत्रिका समूह के संस्थापक स्व. कर्पूरचंद कुलिश के छोटे पुत्र और प्रधान संपादक गुलाबचंद कोठारी के छोटे भाई थे। वे इंजीनियरिंग के स्नातक थे। “ अब भारत को उठना होगा” नाम से राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित उनकी आलेख शृंखला काफ़ी चर्चित हुई थी। बाद में इसी नाम से उनकी पुस्तक भी प्रकाशित हुई।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए श्री मिपाल कोठारी के निधन पर दुःख जताया है। ट्वीट में उन्होंने लिखा, 'पत्रिका ग्रुप के निदेशक श्री मिलाप कोठारी जी के निधन पर मेरी गहरी संवेदना। दुःख की इस घड़ी में मेरे विचार और प्रार्थनाएँ उनके परिवार के सदस्यों के साथ हैं। ईश्वर उनके परिवार को इस दुःख की घडी करने की शक्ति प्रदान करे। दिवंगत आत्मा को शांति मिले।'