प्रदेश में राज्यसभा चुनाव के सियासी घमासान के बीच आज दोपहर को सीएम गहलोत ने एक होटल में प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें सीएम के साथ ही उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट, कांग्रेसी नेता रणदीप सुरजेवाला और केसी वेणुगोपाल मौजूद रहे। सीएम गहलोत ने इस दौरान भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा को कोरोना की कोई चिंता नहीं। ये सरकार को गिराने का खेल करते हैं। मोदी बोलते थे कांग्रेस मुक्त भारत बनाएंगे, लेकिन उनकी यह मंशा कभी पूरी नहीं होगी। जनता इनके कारनामे और हरकतों को देख सकती है। जाति और धर्म के नाम पर आखिर कब तक लड़ोंगे। जीवन बचाने का समय है, कोरोना में तोड़फोड़ करने में लगे हैं। 

प्रेस वार्ता की शुरुआत सुरजेवाला ने की। इस दौरान सुरजेवाला ने भाजपा को घेरा। उन्होंने कहा कि अमित शाह और मोदी लोकतंत्र का चीर हरण हरण करने में लगे हैं। आज पूरा देश कोरोना से पीड़ित है और भाजपा चुनी हुई सरकार को गिराना चाह रही है। उन्होंने कोरोना का सामना करने में भीलवाड़़ा का मॉडल की भी तारीफ की। उन्होंने कहा भीलवाड़ा मॉडल को पूरे देश ने अपनाया है। हमारी सरकार ने कोरोना में शानदार काम किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की तारीफ की। हमारी सरकार प्रजातंत्र की रक्षा में भी कोरोना की तरह ही सजग है। राजस्थान की वीर भूमि को बीजेपी नहीं पहचान पाई है।

बता दें कि राजस्थान में राज्यसभा चुनाव को लेकर मचे सियासी घमासान के बीच बाड़ाबंदी में रह रहे कांग्रेस और निर्दलीय विधायकों को अब दूसरे रिसोर्ट में शिफ्ट करने की तैयारी है। दिल्ली रोड पर स्थित होटल शिव विलास में ठहरे विधायकों को अब कूकस के पास एक बड़़े फाइव स्टार रिसोर्ट में शिफ्ट किया जाएगा। सूत्रों की मानें तो आज दोपहर तक सभी कांग्रेस विधायकों और सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायकों को यहां शिफ्ट किया जाएगा। बताया जाता है कि दिल्ली से आए कांग्रेस के कई बड़़े नेताओं को देर रात ही यहां शिफ्ट भी किया जा चुका है। इस रिसोर्ट में तकरीबन डेढ़़ सौ से ज्यादा लग्जरी रूम हैं।

वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी पूरी रात विधायकों के साथ रिसोर्ट में रुके, देर रात मुख्यमंत्री एक-एक विधायक से मिले और उनके विधानसभा क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों के बारे में जानकारी लेते रहे। विधायकों की मानें तो सुबह 5 बजे तक ये क्रम चलता रहा। उसके बाद सुबह 7 बजे मुख्यमंत्री वहां से रवाना हो गए। सरकार को बाहर से समर्थन दे रहे बीटीपी विधायकों के कांग्रेस खेमे में आने से कांग्रेस विधायकों में जोश का संचार है।