राजस्थान का वर्ष 2021-22 का बजट राजस्थान विधानसभा में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा ध्वनिमत से पारित कर दिया है। अभी तक बजट पास नहीं हुआ है। लेकिन सीएम गहलोत वित्त विधेयक और विनियोग विधेयक का जवाब देते कई नई और बड़ी घोषणाएं कर दी हैं। बजट पास होने से पहले ही विधायक निधि की राशि सवा दो करोड़ से बढ़ाकर 5 करोड़ करने की घोषणा की है।


मुख्यमंत्री गहलोत ने दोनों विधेयकों में 76 बिंदुओं का मिनी बजट सदन में रखा और कर्मचारियों को उपार्जित अवकाश की एवज में नगद भुगतान देने की घोषणा की गई है जो कि 1 अप्रैल से 10 फीसदी बढ़ाया जाएगा। हाल के बजट में सीएम ने बताया कि 1535 करोड़ रुपये से प्रदेश के सड़क तंत्र मजबूत करने के लिए सड़कों के नवीनीकरण, चौड़ाईकरण, सुदृढ़ीकरण तथा उच्च स्तरीय पुल (आरओबी) निर्माण 1140 किलोमीटर के कार्य करवाए जाएंगे।


मुख्यमंत्री गहलोत ने बजट में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, शिक्षा, उच्च शिक्षा, कृषि, पशुपालन, जनजाति क्षेत्रीय विकास, अल्पसंख्यक, युवा रोजगार, सहकारिता और सार्वजनिक निर्माण के लिये कई घोषणायें की हैं। इसी के साथ यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम लागू करने की भी घोषणाएं की गई है। अब 'मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना' करते हुए मजदूर दिवस पर 1 मई 2021 से प्रदेश के समस्त परिवारों को 5 लाख प्रति वर्ष कैशलेस चिकित्सा उपलब्ध कराई जाएगी।