पोर्नोग्राफी केस में जांच जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, वैसे-वैसे राज कुंद्रा की मुश्किलें और बढ़ती हुईं दिखाई दे रही हैं. पोर्न वीडियोज और फिल्म बनाने के मामले में क्राइम ब्रांच की प्रॉपर्टी सेल को एक बड़ा कामयाबी हासिल हुई हैं. राज कुंद्रा के अपने चार कर्मचारी अब सरकारी गवाह बनने को तैयार हैं. सरकारी गवाब बनकर वह पोर्नोग्राफी के इस गंधे धंधे की पर्दाफाश करने में पुलिस की मदद करेंगे.

सूत्रों ने मिली जानकारी के मुताबिक, क्राइम ब्रांच की प्रॉपर्टी सेल के सामने इन चारों ने कई राज खोले हैं. उन्होंने बताया है कि किस तरह से ये पूरा रैकेट चलता था. इन चार कर्मचारियों से क्राइम ब्रांच राज कुंद्रा की बिजनेस डील्स के बारे में आगे की जानकारी लेंगी. उनसे पूछा जाएगा कि पोर्नोग्राफी रैकेट कैसे चलाया जा रहा था, फाइनेंसियल डील्स और बाकी चीजों के बारे में भी पता लगाया जाएगा. क्राइम ब्रांच इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही है कि राज कुंद्रा पैसों को कैसे मैनेज करते थे.

इस मामले में एक और हैरान करने वाली जानकारी सामने आई है. जिसमें राज अपने पीए उमेश कामत के साथ मिलकर इन वीडियोज से आगे बढ़कर पोर्न फिल्म बनाने का मेगा प्लान पर बात करते दिख रहे थे. क्राइम ब्रांच से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, राज कुंद्रा  ने पोर्न फिल्म बनाने का मेगा प्लान तैयार किया था. इसमें उनके साथ उमेश कामत भी शामिल था. दोनों ने मिलकर एक लंबी प्लानिंग की कर ली थी, जिसमें पोर्न फिल्म का ट्रेलर, कैमरे की क्वालिटी, कैमरे के एंगल, बोल्ड सीन और न्यूड सीन सभी की प्लानिंग की थी.

सूत्रों ने बताया है कि मुंबई पुलिस को एक ई-मेल हाथ लगा है, जिसमें राज कुंद्रा और उमेश कामत अपने इस ख्वाब कॉसेंप्ट के बारे में बात कर रहे हैं, जिसमें बताया गया है कि हर पोर्न फिल्म का ट्रेलर बनेगा, जिसकी टाइमिंग 60 से 90 सेकेंड तक की होगा. ये पूरा वीडियो एचडी में शूट होगा.