मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के अनेक स्थानों पर बारिश का सिलसिला आज भी जारी रहा। सबसे अधिक असर प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों में रहा, जहां तेज बारिश हुयी। भोपाल में भी पिछले दो दिनों से बारिश का क्रम रुक रुक का जारी है। मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल के वैज्ञानिक डॉ पी के साहा ने यूनीवार्ता को बताया कि मानसूनी सिस्टमों के चलते पिछले तीन दिनों से प्रदेश भर में मानसून सक्रिय रहा, जिसके चलते अनेक स्थानों पर बारिश हुयी। 

राजधानी भोपाल में सुबह अच्छी बारिश हुयी। हालांकि बाद में इसमें कमी आयी। यहां पिछले दो दिनों से बारिश का सिलसिला रुक रुक कर जारी है। प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों में बारिश का असर सबसे ज्यादा देखा गया। वहां के रतलाम, उज्जैन, शाजापुर सहित कुछ अन्य स्थानों पर अच्छी बारिश हुयी। इस बीच रतलाम में 120 मिमी वर्षा दर्ज की गयी। इसके अलावा शाजापुर में 83 मिमी, पचमढ़ी में 56 मिमी, खंडवा में 43 मिमी, उज्जैन में 42.4 मिमी वर्षा दर्ज की गयी। झाबुआ और आलिराजपुर जिलों से मिले समाचार के अनुसार वहां लगातार हो रही बारिश के चलते नदी नाले उफान पर आ गए हैं। ऐहतियात की दृष्टि से प्रशासन ने भी आवश्यक प्रबंध किए हैं। 

दोनों जिलों में कल से जारी बारिश से ठंडक होने के साथ ही किसानों के चेहरे खिल गए हैं। जिले से संबंधित अनास, पंपावती, पदमावती, माही, नौगावां, हथनी और अन्य बरसाती नदियों में लबालब पानी बह रहा है। आलिराजपुर जिले के कठिवाडा में 24 घंटों में 10 इंच से अधिक बारिश दर्ज की गयी है। वहीं झाबुआ जिले के मेघनगर में 4 इंच से अधिक वर्षा हुयी है। डॉ. साहा ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र अब कमजोर हो गया है, लेकिन प्रदेश के उत्तर पश्चिमी हिस्से में एक ऊपरी हवाओं का चक्रवात बना है, जिसके चलते अगले चौबीस घंटों के दौरान ग्वालियर और चंबल संभागों के जिलों में तथा राजगढ़, आगरमालवा, नीमच, मंदसौर और टीकमगढ़ जिलों में कहीं कहीं भारी से अति भारी बारिश का 'ओरेंज अलर्ट' जारी किया गया है। 

मौसम वैज्ञानिक डॉ साहा ने बताया कि 28 जुलाई से बंगाल की खाड़ी में एक और कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है। इसका असर मध्यप्रदेश में भी देखने का मिल सकता है, जिससे आने वाले कुछ दिनों में प्रदेश में एक बार फिर अच्छी बारिश होने की संभावना है। राजधानी भोपाल तथा उसके आसपास के क्षेत्रों में पिछले दो दिनों से बारिश का क्रम रुक रुक का जारी है। आज भी यहां रुक रुक का बारिश का दौर जारी रहा, जिससे मौसम में ठंडक बनी हुयी है। अगले चौबीस घंटों के दौरान भी यहां बारिश संभावना जताई जा रही है।