सेंट्रल रेलवे ने कैंसिल टिकट के रिफंड को लेकर यात्रियों को बड़ी राहत दी है। सेंट्रल रेलवे के एक अधिकारी ने कहा कि कैंसिल टिकट का रिफंड 30 जून तक नहीं बल्कि यात्रा की तारीख से अगले 6 महीने तक काउंटर से लिया जा सकता है। रेलवे की तरफ से यह बयान रेलवे काउंटर्स पर रिफंड को लेकर बढ़ी भीड़ को देखते हुए आया है।


दरअसल, इससे पहले सेंट्रल रेलवे ने ट्वीट कर कहा था कि लॉकडाउन के दौरान रद्द की जाने वाली ट्रेनों के लिए टिकट का रिफंड 30 जून तक लिया जा सकता है। इसके लिए रेलवे ने ऑनलाइन और रेलवे काउंटर से रिफंड की सुविधा दी थी। लेकिन लाखों टिकटों के रद्द होने के कारण रेलवे के काउंटरों पर रिफंड लेने वालों की भीड़ भी लगातार बढ़ रही थी।


इससे कोरोना वायरस से बचने को लेकर जारी की गई गाइडलाइन्स का उल्लंघन हो रहा था और सामाजिक दूरी का पालन नहीं हो पा रहा था। इसलिए रेलवे ने अब साफ कर दिया है कि कैंसिल टिकटों का रिफंड यात्रा की तारीख के बाद 6 महीने तक लिया जा सकेगा। इसलिए जल्दबाजी के चक्कर में यात्री रेलवे के काउंटर्स पर भीड़ न लागाएं।


विजयवाड़ा रेलवे डिविजन ने यात्रियों की सुरक्षा के लिए शानदार तरीके को अपनाया है। यहां यात्रियों से संपर्क किए बिना उनके टिकट चेक किए जा रहे हैं। कंप्यूटर असिस्टेड कैमरा और मॉनिटर का उपयोग करके रेलवे यात्रियों के टिकट को दूर से ही चेक कर रहा है। यही नहीं थर्मल स्क्रीनिंग के लिए भी यात्रियों के करीब जाने की झंझट को दूर कर दिया गया है। यहां डोर फ्रेम मेटल डिटेक्टरों में लगे कैमरों का उपयोग करते हुए यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है।


इंडियन रेलवे ने सभी जोनों को वर्तमान में चल रहीं 230 स्पेशल ट्रेनों को टाइम पर पहुंचाने की बात कही है। रेलवे ने ट्रेनों के परिचालन में शत- प्रतिशत समय पाबंदी सुनिश्चित करने को कहा है। रेलवे ने जोनल प्रमुखों को इन ट्रेनों के समय पालन की निगरानी करने को कहा है। रेलवे द्वारा सभी जोनों को भेजे गए मैसेज में कहा गया है कि वर्तमान में बहुत कम ट्रेनें चल रही है इसलिए इसमें कोई देरी नहीं होनी चाहिए।