पश्चिम बंगाल (west bengal) में भारतीय रेलवे (Indian railway) की उपनगरीय ट्रेन सेवाएं रविवार से फिर से शुरू हो गई हैं। हालांकि राज्य सरकार की सलाह के अनुरूप अंतरराज्यीय लोकल ट्रेनों में 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ आवाजाही की अनुमति दी गई है। 

इस दौरान पूर्वी रेलवे और दक्षिण पूर्व रेलवे दोनों ट्रेन सेवाओं को कोरोना रोधी प्रतिबंधों के साथ चलने की इजाजत दी गई है। कोरोना संक्रमण की वजह से सेवाएं निलंबित होने के छह महीने बाद उपनगरीय रेल सेवाएं फिर से शुरू हुईं। दक्षिण पूर्व रेलवे की तरफ से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया है,''सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी के अनुसार, दक्षिण पूर्व रेलवे ने अपनी सेवा को पुन: बहाल करने का निर्णय लिया है। 

उपनगरीय/ईएमयू लोकल ट्रेनें चरणबद्ध तरीके से खडग़पुर मंडल पर हावड़ा-खडग़पुर-मिदनापुर, शालीमार-सांतरागाछी, पंसकुरा-हल्दिया, संतरागाछी-अमता और तमलुक-दीघा खंड के बीच 31 अक्टूबर, 2021 से चल रही हैं।'' रेलवे ने अपनी विज्ञप्ति में कहा,''31 अक्टूबर, 2021 से कुल 48 ईएमयू लोकल (23 अप और 25 डाउन डायरेक्शन में) की सेवाओं को बहाल किया जाएगा।'' 

इनके अलावा, 08061/08062 हावड़ा-जलेश्वर-हावड़ा मेमू पैसेंजर को भी 31 अक्टूबर, 2021 से बहाल कर दिया जाएगा। इसमें बताया गया, यात्रियों से अनुरोध है कि वे सभी कोविड-19 मानकों का सख्ती से पालन करें, शारीरिक दूरी बनाए रखने और मास्क पहनकर रखें।