भारत सरकार के नए आईटी नीति से उपजे विरोध का मामला अभी समाप्त भी नहीं हुआ कि राहुल गांधी के ट्विटर नीति को लेकर चर्चा तेज हो गई है।  राहुल ने अपने कई करीबियों, मित्रों को ट्विटर पर अनफालो कर दिया है। 

दरअसल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने ट्विटर से सभी करीबी मित्रों ,नेताओं और वरिष्ठ पत्रकारों को अनफॉलो कर दिया है।  जिससे राजनीतिक गलियारें में चर्चा तेज हो गई है।  जिसमें उन्होंने वायनॉड से सांसद ऑफिस से जुड़े लोगों को भी अनफॉलो कर दिया है। 

 यही नहीं दिल्ली के भी अपने करीबी नेताओं और पत्रकारों को भी अनफॉलो कर दिया है।  हालांकि राहुल से जुड़े नजदीकियों की मानें तो वे फिर से अपने ट्विटर अकांउट को रिफ्रेश करना चाह रहे हैं।  जिसके लिये वे यह छोटा सा एक्सरसाइज कर रहे हैं। 

मालूम हो कि राहुल के करीबी नेता का कहना है कि इसे किसी नए घटनाक्रम से नहीं जोड़ा जाना चाहिये।  जल्द ही राहुल के ट्विटर से सभी को जोडऩे की प्रक्रिया शुरु की जाएगी।  उधर हाल के दिनों में जिस तरह से राहुल गांधी ने ट्विटर के जरिये मोदी सरकार पर हमला किया है।  उससे उनके आक्रामकता का पता चलता है।  वहीं उन्होंने केंद्र सरकार के ट्विटर पर नकेल कसने की भी तीखी आलोचना की है।