मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ‘आइटम’ शब्द को लेकर मचे बवाल के बीच आज साफ शब्दों में कहा कि वे इस मामले को लेकर माफी क्यों मांगेंगे। कमलनाथ ने यहां मीडिया के सवालों के जवाब में यह टिप्पणी की। उनसे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी के ‘आइटम’ संबंधी विवाद को लेकर आए ताजा बयान के बारे में पूछा गया था। 

कमलनाथ ने कहा कि वो राहुल गांधी की राय है और उनको जो समझाया गया। पूर्व मुख्यमंत्री ने साथ ही यह भी कहा कि उन्होंने इस मामले को लेकर स्थिति साफ कर दी है। अब और कुछ कहने की आवश्यकता नहीं है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ ने कहा कि उन्होंने बता दिया है कि उनका लक्ष्य किसी का अपमान नहीं था। यदि कोई अपमानित महसूस करता है, तो वे खेद कल ही व्यक्त कर चुके हैं। ‘अब मैं माफी क्यों मांगूंगा।’

चौहान की इस मामले में माफी मांगने संबंधी मांग के बारे में पूछे जाने पर कमलनाथ ने कहा कि चौहान को जनता के बीच जाकर माफी मांगना चाहिए। कमलनाथ ने ग्वालियर जिले के डबरा में रविवार को चुनावी सभा में भाजपा प्रत्याशी एवं राज्य की मंत्री इमरतीदेवी को लक्ष्य करते हुए कुछ टिप्पणियां की थीं। इसी दौरान उनके मुख से निकले ‘आइटम’ शब्द को लेकर बवाल मच गया है। 

इसके बाद से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा नेता आक्रामक अंदाज में कमलनाथ पर लगातार हमले बोल रहे हैं। चौहान ने इस संबंध में कल सोनिया गांधी को पत्र भी लिखा है और कमलनाथ को सभी पदों से हटाने की मांग की है। इस बीच राहुल गांधी का आज एक महत्वपूर्ण बयान आया है जिसमें वे यह कह रहे हैं कि प्रत्येक महिला का सम्मान होना चाहिए और किसी महिला को लेकर उस तरह के शब्दों का इस्तेमाल नहीं होना चाहिए, जिस प्रकार के शब्द का इस्तेमाल किया गया है। गांधी के इस बयान के बाद भाजपा नेता और अधिक आक्रामक नजर आ रहे हैं। उनका कहना है कि कमलनाथ को महिला मंत्री से माफी मांगना चाहिए।