कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार पर कोरोना पीड़ित परिवार के बच्चों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए ऐसे बच्चों की मदद करने का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आग्रह किया और कहा कि उन्हें कर्नाटक की नन्हीं प्रतीक्षा की मदद जरूर करनी चाहिए। 

ये भी पढ़ेंः मौसम विभाग का बड़ा अपडेटः देश के इन राज्यों में वापसी कर रहा है मॉनसून, होगी झमाझम बारिश


गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कर्नाटक के ठंडवपुरा में कोरोना पीड़ित परिवारों के सदस्यों से बातचीत करते हुए उनकी समस्याएं सुनी। उन्हें इसी दौरान प्रतीक्षा नाम की एक छोटी बच्ची ने बताया कि उसके पिता की कोरोना से मृत्यु हो गई थी और उसकी सुनवाई नहीं हो रही है। उसका कहना है कि वह डॉक्टर बनकर मानवता की सेवा करना चाहती है। 

ये भी पढ़ेंः देश में 5G का आगाज, जियो यूजर्स के लिए मुकेश अंबानी ने कर दिया इतना बड़ा ऐलान, जानें पूरा मामला


कांग्रेस नेता कहा कि मोदी से इस बच्ची की मदद का आग्रह करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री जी, प्रतीक्षा की बात सुनें, जिसने भाजपा सरकार के कोविड कुप्रबंधन के कारण अपने पिता को खो दिया। वह अपनी शिक्षा को आगे बढ़ाने और परिवार की जरूरतों को पूरा करने के लिए सरकार से मदद की गुहार लगाती है। गांधी ने कोरोना पीड़ित परिजनों की समस्याएं सुनने के बाद सरकार से सवाल करते हुए पूछा कि  क्या कोविड पीड़ितों के परिवार उचित मुआवजे के पात्र नहीं हैं। आप उन्हें उनके अधिकार से क्यों वंचित कर रहे हैं।