सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्वीटर लगातार कुछ दिनों ने विवादों में आ रहा है। ट्वीटर पर कई तरह की सियासी घमासान हुए हैं। इसी तरह से हाल ही में कांग्रेस के पूर्व अध्यईक्ष राहुल गांधी ने ट्विटर पर बड़ा हमला किया है। राहुल ने कहा कि “ट्वीटर भारत में कारोबार नहीं कर रहा है, वह देश की राजनीति की दिशा तय करने का काम करने में लगा हुआ ”। 

राहुल ने यह भी कहा है कि ” एक राजनेता के तौर पर मुझे ये बिल्कुुल भी पसंद नहीं है। कंपनी की ओर से उठाया जा रहा इस तरह का कदम देश के लोकतांत्रिक ढांचे पर हमला है ”। जानकारी के लिए बता दें कि राहुल गांधी के ट्विटर पर 19-20 मिलियन फॉलोवर्स हैं। राहुल ने इसके बारे में बताया कि ”आप उन्हेंद एक राय रखने के अधिकार से रोक रहे हैं। यह न केवल अनुचित है बल्किय ये भी दर्शाता है कि ट्विटर अब अपने विचार रखने का जरिया नहीं रह गया है। ट्विटर भी अब वही सुनता है जो केंद्र सरकार कहती है ”।

ट्वीटर सोशल मीडिया का एक बड़ा प्लेटफॉर्म है लोग इसमें  जुड़ते हैं और अपने विचार दूसरों के सामने पेश करते हैं। राहुल ने इसके बारे में बताया कि ”ये आम लोगों के लिए काफी खतरनाक बात है, अगर ट्विटर राजनीतिक पक्ष लेने लगेगा तो यह उनके लिए ठीक नहीं है ”।

गांधी ने बोखलाकर कहा कि लोकतंत्र पर लगातार हमले हो रहे हैं और हमें संसद में बोलने की इजाजत नहीं दी जा रही है। मीडिया को भी नियंत्रित करके रखा जा रहा है। राहलु ने कहा कि मुझे लगता था कि ट्विटर ही एक ऐसा प्लेीटफॉर्म है जहां आप अपनी बात रख सकते हैं और करोड़ों लोगों तक अपनी बात पहुंचा सकते हैं, लेकिन ऐसा बिल्कु ल भी नहीं है। ट्विटर भी पक्षपात करता है।