कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांंधी के द्वारा 'ग्लोबल हंगर इंडेक्स' रिपोर्ट को लेकर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना करने पर असम के वित्त मंत्री व भाजपा नेता हिमंता विश्व शर्मा ने राहुल गांधी पर जमकर हमला बोला है।


दरअसल, राहुल गांधी 'ग्लोबल हंगर इंडेक्स' की रिपोर्ट को लेकर मोदी पर कटाक्ष करते हुए एक ट्वीट किया है। जिसपर हिमंता भड़क गए हैं। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, चौकीदार ने भाषण खूब दिया, पेट का आसन भूल गये। योग-भोग सब खूब किया, जनता का राशन भूल गये।' इसके साथ ही राहुल ने 'ग्लोबल हंगर इंडेक्स' की एक खबर भी शेयर किया।


जिसके जवाब में हिमंता ने कहा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हमेशा अपने झूठ से देश को अपमानित करते रहते हैं। ऐसा करना इन्होंने अपनी आदत बना ली है। 'ग्लोबल हंगर इंडेक्स' पर सरकार की आलोचना करना शर्मनाक है।


बता दें कि 'ग्लोबल हंगर इंडेक्स' की रिपोर्ट सामने आने के बाद विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर हो गया है। 119 देशों के वैश्विक भूख सूचकांक में भारत 103वें पायदान पर है। भारत नेपाल और बांग्लादेश जैसे देशों से पीछे है, हालांकि इससे आप खुश हो सकते है कि हम पाकिस्तान से आगे है। पाकिस्तान की 106वीं रैंक है। पिछले साल भारत 'ग्लोबल हंगर इंडेक्स' में 100वें नंबर पर था। रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में 68 मिलियन लोग रिफ्यूजी कैंपों में रह रहे हैं।


ग्लोबल हंगर इंडेक्स यानी GHI की शुरुआत साल 2006 में इंटरनेशनल फ़ूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट ने की थी, वेल्ट हंगरलाइफ नाम के एक जर्मन संस्था ने 2006 में पहली बार ग्लोबल हंगर इंडेक्स जारी किया था, 2018 में उसकी रिपोर्ट 13वां एडिशन है।


ग्लोबल हंगर इंडेक्स में दुनिया के तमाम देशों में खानपान की स्थिति का विस्तृत ब्योरा होता है, मसलन, लोगों को किस तरह का खाद्य पदार्थ मिल रहा है, उसकी गुणवत्ता और मात्रा कितनी है और उसमें कमियां क्या हैं। हर साल अक्टूबर में ये रिपोर्ट जारी की जाती है।


साल 2014 में केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार बनने के बाद से ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत की रैंकिंग में लगातार गिरावट आई है, साल 2014 में भारत जहां 55वें पायदान पर था, तो वहीं 2015 में 80वें, 2016 में 97वें और पिछले साल 100वें पायदान पर आ गया। इस बार रैंकिंग 3 पायदान और गिर गई।

ग्लोबल हंगर इंडेक्स की ताजा रिपोर्ट में भारत की स्थिति नेपाल और बांग्लादेश जैसे पड़ोसी देशों से भी खराब है। इस साल GHI में बेलारूस टॉप पर है, तो वहीं भारत के पड़ोसी चीन को 25वीं, बांग्लादेश को 86वीं नेपाल को 72वीं, श्रीलंका को 67वीं और म्यांमार को 68वीं रैंक मिली है।