कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्ज मांफी को लेकर एक बार फिर भाजपा पर हमला किया है। भाजपा शासित गुजरात में 6.22 लाख बकाएदारों का बिजली का बिल और असम में आठ लाख किसानों का कर्ज माफ करने के फैसले पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस गुजरात और असम के मुख्यमंत्रियों को गहरी नींद से जगाने में कामयाब रही है, लेकिन प्रधानमंत्री अभी भी सो रहे हैं। हम उन्हें भी जगाएंगे।


बाता दें कि मध्यप्रदेश और छतीसगढ़ में सरकार बनते ही कांग्रेस ने किसानों के 41 हजार 100 करोड़ रुपए के कर्ज माफ कर दिए गए। हालांकि, पार्टी ने राजस्थान में अभी कोई ऐलान नहीं किया है। तीनों राज्यों में 17 दिसंबर को शपथ ग्रहण समारोह हुआ था।


इसके बाद भाजपा शासित गुजरात सरकार ने 6.22 लाख बकाएदारों का 625 करोड़ बिजली बिल और असम सरकार ने आठ लाख किसानों का 600 करोड़ रुपए का कर्ज माफ कर दिया। बिजली बिलों में माफी की घोषणा जसदण विधानसभा सीट पर उपचुनाव से ठीक 48 घंटे पहले की गई।

भाजपा ने ओडिशा में सत्ता में आने पर किसानों का कर्ज भी माफ करने का ऐलान किया था। राज्य में 2019 में विधानसभा चुनाव होने हैं।


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा, 'हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर दबाव डालकर देश के हर किसान का कर्ज माफ करवाएंगे। देखा आप लोगों ने? काम शुरू हो गया है। हमने 10 दिन में कर्ज माफ करने का वादा किया था।'


उन्होंने कहा, 'मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ में हमारी नई सरकारों को किसानों का कर्ज माफ करने में छह घंटे का वक्त भी नहीं लगा, लेकिन मोदीजी के पास साढ़े चार साल थे। उन्होंने देश के किसानों का एक रुपया भी माफ नहीं किया। जब तक देश के हर किसान का कर्ज माफ नहीं होता, हम मोदीजी को सोने नहीं देंगे। पूरा विपक्ष मिलकर उनसे किसानों का कर्ज माफ करवाकर रहेगा।'