राफेल फाइटर प्लेन सौदे का जिन्न एक बार फिर बाहर आ गया है और इसको लेकर राजनीति शुरू हो गई है।  कांग्रेस ने राफेल सौदे के जांच की मांग की है।  दरअसल, राफेल लड़ाकू प्लेन के सौदे की जांच के लिए फ्रांस में एक जज की नियुक्ति की गई है।  इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने निशाना साधा है। 

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में हैशटैग राफेलस्कैम का इस्तेमाल करते हुए लिखा, चोर की दाढ़ी.. इससे पहले कांग्रेस ने इस सौदे की संयुक्त संसदीय कमेटी (जेपीसी) से जांच की मांग की। 

कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि फ्रांस में प्रथम दृष्टया भ्रष्टाचार के आरोप सामने आ गए हैं तो सरकार इस मामले की जांच संयुक्त संसदीय कमेटी से क्यों नहीं करवाती है? उन्होंने सवाल किया कि अगर दाल में कुछ काला नहीं है तो फिर सरकार को जांच से किस बात का डर है? उन्होंने कहा कि यह देश की सुरक्षा से जुड़ा हुआ मामला है, इसलिए इसकी जेपीसी से जांच होनी चाहिए।  उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त शासन देना सरकार की संवैधानिक जिम्मेदारी है। 

गौरतलब है कि भारत और फ्रांस के बीच 36 राफेल फाइटर जेट्स का सौदा हुआ था।  ये डील भारत सरकार और दसॉल्ट एविएशन के बीच हुई थी।  इस डील को लेकर कांग्रेस लगातार सरकार पर आरोप लगाते रही है। 

वहीं बीजेपी ने कांग्रेस पर इस मुद्दे पर राजनीति करने का आरोप लगाया।  बीजेपी ने कहा कि जिस तरह से राहुल गांधी और कांग्रेस इस पर राजनीति कर रहे हैं वह दुखद है।  बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, फ्रांस में राफेल सौदे को लेकर जांच होने वाली है।  यह स्वाभाविक है।  किसी एनजीओ ने फ्रांस की कोर्ट में शिकायत की थी, इस जांच को भ्रष्टाचार की नजऱ से देखना ठीक नहीं है।  लेकिन इसपर राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी जिस तरह से राजनीति कर रहे हैं वह दुखद है।