राफेल लड़ाकू विमान ने बिना रूके 12 घंटे तक उड़ान भरकर नया रिकॉर्ड कायम किया है। इस फ्रांसीसी लड़ाकू विमान ने प्रशांत महासागर में स्थित एयरबेस की यात्रा के दौरान 12 घंटे में 17000 किलोमीटर की दूरी तय की। इससे पहले कोई भी राफेल विमान इतनी दूरी तक बिना रुके यात्रा नहीं कर पाया है। इससे पहले फ्रांस से भारत की 6700 किलोमीटर की दूरी राफेल लड़ाकू विमान बिना रूके तय कर चुके हैं।

फ्रांसीसी वायु सेना के एयर टू एयर रिफ्यूलिंग ऑपरेटर मेजर पियरिक ने बताया कि हम यूरोप के एकमात्र ऐसे देश हैं जो हमारे ठिकानों से 17000 किलोमीटर की दूरी तक ऐसी उड़ान भरने में सक्षम हैं। राफेल विमानों ने यह दूरी कैलिफोर्निया से उडकऱ दक्षिण प्रशांत महासागर में स्थित फ्रांसीसी एयरबेस ताहिती तक पहुंचने के दौरान तय की है। इस दौरान राफेल विमान में हवा में ही सात बार ईंधन भरा गया।

फ्रांसीसी मीडिया के अनुसार, ताहिती जाने के लिए तीन राफेल लड़ाकू विमानों सहित फ्रांसीसी वायु सेना के सात विमानों ने फ्रांस से उड़ान भरी थी। पहली बार की उड़ान में वे अमेरिका के कैलिफोर्निया स्थित एयरबेस पर पहुंचे। यहां से दूसरी बार की उड़ान में उन्होंने रिकॉर्ड बनाते हुए ताहिती में सुरक्षित लैंडिंग की। 15 घंटे की इस रिकॉर्ड उड़ान के दौरान राफेल लड़ाकू विमान में सात बार एयर-टू-एयर रिफ्यूलिंग की गई।

भारत के राफेल लड़ाकू विमान को दुनिया की सबसे घातक हवा से हवा में मार करने वाली मेटेओर मिसाइलों से लैस किया गया है। यह मिसाइल आंखों से नजर न आने वाले दुश्मन के फाइटर जेट को 100 किमी दूरी से मार गिरा सकती है। इसके अलावा इसमें माइका मिसाइल भी लगी हुई है। राफेल 3700 किमी की रेंज तक दुश्मन को बरबाद कर सकता है।