पाकिस्‍तान में मदरसे के छात्रों के साथ सेक्‍स करने वाले पाकिस्‍तानी मुफ्ती अजीज उर रहमान का अश्‍लील वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने अरेस्‍ट कर लिया है। इस वीडियो में वह साफ तौर पर बच्‍चों के साथ सेक्‍स करते हुए नजर आ रहा है। मुफ्ती अजीज पाकिस्‍तान के कट्टरपंथी इस्‍लामिक संगठन जमीयत उलेमा-ए-इस्‍लाम का नेता है। आरोपी मुफ्ती के साथ उसके बेटे को भी अरेस्‍ट किया गया है।

पाकिस्‍तानी टीवी चैनल ज‍िओ न्‍यूज के मुताबिक मुफ्ती को मियांवाली इलाके से अरेस्‍ट किया गया है। अश्‍लील वीडियो वायरल होने के बाद मुफ्ती अजीज और उनके बेटे के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। इससे पहले पीड़‍ित छात्र ने आरोप लगाया था कि मुफ्ती और उसके बेटे ने उसे ब्‍लैकमेल किया और जान से मारने की धमकी दी है। पीड़‍ित छात्र ने कहा, 'अगर न्‍याय नहीं हुआ तो मैं आत्‍महत्‍या कर लूंगा।'

उधर, मदरसे के प्रभारी ने कहा कि वीडियो वायरल होते ही मुफ्ती को मदरसे से निकाल दिया गया है। उन्‍होंने कहा कि मुफ्ती के कृत्‍य के लिए मदरसा जिम्‍मेदार नहीं है। इस बीच जमीयत के लाहौर के महासचिव ने वीडियो वायरल होने के बाद मुफ्ती के खिलाफ नोटिस जारी किया है। उन्‍होंने कहा कि जब तक जांच पूरी नहीं हो जाती है, मुफ्ती अजीज की सदस्‍यता रद रहेगी।

इस घिनौनी घटना के बाद सोशल मीडिया पर मुफ्ती के खिलाफ जमकर गुस्‍सा देखा गया था। कई लोगों ने मुफ्ती के गिरफ्तारी की मांग की थी। उधर, मुफ्ती ने कहा है कि वह नशे में था। उसने यह भी दावा किया कि इस ढाई साल के बच्‍चे का मेरे खिलाफ इस्‍तेमाल किया गया है। उसने यह भी दावा किया कि उसे किसी ने जानबूझकर यह नशा दिया था।

पाकिस्तानी अखबार डॉन के अनुसार, पीड़ित छात्र ने मुफ्ती अजीजुर रहमान के खिलाफ यह एफआईआर 17 जून को दर्ज करवाई। इस एफआईआर में पीड़ित छात्र ने कहा कि उसे 2013 में लाहौर के जामिया मंजूरुल इस्लामिया में प्रवेश मिला था। उसने यह भी बताया कि परीक्षा के दौरान मुफ्ती रहमान ने उस पर और एक अन्य छात्र पर किसी और को परीक्षा में बैठाकर धोखा देने का आरोप लगाया था। इस आरोप के बाद पीड़ित को तीन साल के लिए वफाकुल मदारिस में परीक्षा देने पर रोक लगा दी गई।

पीड़ित छात्र ने आगे कहा कि मदरसे के इस फैसले के बाद उसने मुफ्ती अजीजुर रहमान से रहम की गुहार लगाई। पहले तो वह अपने फैसले पर टिके रहे। बाद में उन्होंने मुझसे कहा कि अगर मैं उनके साथ सेक्स कर उन्हें खुश करता हूं तो वह कुछ सोच सकते हैं। पीड़ित ने कहा कि उनके इस प्रस्ताव के बाद मेरे पास अपना यौन उत्पीड़न करवाने के अलावा कोई विकल्प नहीं था।