भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) ने पहले टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड (Ind Vs NZ 1st Test) की दूसरी पारी में टॉम लाथम को बोल्ड कर अपना 418वां अंतर्राष्ट्रीय विकेट लिया और इसके साथ ही वह भारत के महानतम ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) से आगे निकल गए। 

35 वर्षीय अश्विन (R Ashwin) के इस मैच से पहले तक 413 विकेट थे। पहली पारी में तीन विकेट लेकर उन्होंने अपने विकेटों की संख्या 416 पहुंचा दी और कल दूसरी पारी में अपना पहला विकेट लेने के साथ ही उनके 417 विकेट हो गए थे । आज उन्होंने अपना दूसरा विकेट लिया और हरभजन (Harbhajan Singh) से आगे निकल गए। हरभजन ने 103 टेस्टों में 417 विकेट लिए थे जबकि अश्विन अपने 80 वें टेस्ट में इस उपलब्धि तक पहुंचे हैं। अश्विन इसके साथ ही टेस्ट इतिहास में सर्वाधिक विकेट लेने वाले खिलाड़ियों की सूची में 13 वें नंबर पर पहुंच गए हैं। गेंदबाजों की सूची में श्रीलंका के ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन (muttiah muralitharan) 800 विकेट लेकर सबसे आगे हैं। भारत में अब आश्विन से आगे कपिल देव (Kapil dev) (434 विकेट) और अनिल कुंबले (Anil Kumble) (619 विकेट) हैं। 

रविचंद्रन  (R Ashwin) का टेस्ट में बॉलिंग और बैटिंग रिकॉर्ड काफी शानदार रहा है। तमिलनाडु के इस स्पिनर ने नवंबर 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ दिल्ली में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया था और तब से लगातार टेस्ट टीम में बने हुए हैं। अश्विन ने अबतक 80 टेस्ट मैचों में 24.53 की औसत से 418 विकेट चटकाए हैं। इस दौरान अश्विन ने 30 बार पारी में पांच विकेट हॉल लिए हैं। अगर बल्लेबाजी रिकॉर्ड की बात करें, तो अश्विन ने अबतक 113 टेस्ट पारियों में 27.82 की औसत से 2755 रन बनाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले से पांच शतक और 11 अर्धशतक निकले।