कोरोना संक्रमण काल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आहूत पीएम केयर्स फंड की पारदर्शिता पर सवाल उठाया है. इससे पहले गुरुवार को कांग्रेस ने प्रधानमंत्री केयर फंड में मिले विदेशी अनुदान को लेकर प्रश्न चिन्ह खड़े किए थे. राहुल ने कांग्रेस के मुख पत्र नेशनल हेराल्ड की एक खबर का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा है- 'पीएम केयर्स- चलिये ट्रांसपरेंसी (पारदर्शिता) को वडक्कम (नमस्ते) 

राहुल ने जो खबर शेयर किया है उसमें दावा किया गया है कि 'पीएम केयर फंड पर संशय है. सरकार इस बात पर स्पष्ट नहीं है कि यह सरकारी फंड है अथना किसी की निजी संपत्ति है.' वहीं गुरुवार को कांग्रेस ने भी पीएम केयर्स पर सवाल किए थे. 

कांग्रेस ने ‘पीएम केयर्स’ कोष को लेकर बुधवार को सरकार पर निशाना साधा और कहा कि इसको मिले विदेशी अनुदानों की जांच होनी चाहिए. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि इस कोष को जवाबदेह बनाया जाना चाहिए और इसको मिले पैसे का विवरण सार्वजनिक किया जाना चाहिए.

उन्होंने ट्वीट किया, चीन, पाकिस्तान और कतर से पीएम केयर्स में पैसे लेने का मामला है. प्रधानमंत्री से सवाल है कि भारतीय दूतावासों ने पीएम केयर्स का प्रचार क्यों किया और इसमें अनुदान क्यों लिए? प्रतिबंधित चीनी ऐप पर इस कोष का प्रचार क्यों किया गया?