कोरोना वायरस महामारी की वजह से अब लगभग सभी लोग डिजिटल पेमेंट को प्राथमिकता दे रहे हैं। ऐसे में यदि आप भी QR कोड स्कैन करके पेमेंट कर रहे हैं तो जरा सतर्क हो जाने की जरूरत है। क्योंकि आप कभी भी हैकर्स के हत्थे चढ़ सकते हैं।

एक्सपर्ट्स ने चेतावनी जारी की है कि फ्रॉड करने वाले अब लोगों को ठगने के लिए QR कोड का यूज कर रहे हैं। कोरोना के बाद से कोड अधिक सामान्य हो गए हैं।

अब ठगों ने इसे लोगों की गाढ़ी कमाई से ठगी करने के मौके के तौर पर ले लिया है। ठगों की नई चाल 1 क्यूआर कोड वाले फिशिंग ईमेल के रूप में सामने आई है। वो मैसेज भेजते हैं जिसमें एक लिंक होता है और कहते हैं कि इसे स्कैन करने से आपका फोन मैलवेयर बचा रहेगा। लेकिन ऐसा करने पर यह आपकी बैंक अकाउंट की डिटेल और पर्सनल डिटेल प्राप्त करने के लिए डिजाइन की गई फर्जी वेबसाइट्स पर प्रसारित कर देगा।

लोग इनके जाल में इसलिए फंस जाते हैं, क्योंकि उन्हें ऐसे धोखेबाज लिंक दिखाई नहीं देते। इनकी ओर से जिनकी ओर एक क्यूआर कोड उन्हें भेज सकता है। इस वजह से सुरक्षा विशेषज्ञों के लिए उन पर नज़र रखना मुश्किल है। ऐसे में खतरे के कारण जनता को क्यूआर कोड स्कैन करने से बचने की सलाह दी गई है।