यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध अब खत्म होने वाला है। महातबाही मचने से पहले पुतिन यूक्रेन राहत दी है। पुतिन ने फैसला किया है कि अब युद्ध विराम की आवश्यकता है। पुतिन ने 9 मई को युद्ध पूरे तरीके से खत्म करने के संकेत दिए है। यूक्रेन के सशस्त्र बलों के जनरल स्टाफ के खुफिया सूत्रों ने दावा किया है कि रूसी सैनिकों से कहा गया है कि युद्ध 9 मई तक खत्म हो जाना चाहिए।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पुतिन ने युद्ध खत्म करने के लिए 9 मई की तारीख ही क्यों चुनी है। यह अभी सारी दुनिया का सवाल लेकिन बता दें कि 9 मई को रूस में व्यापक रूप से नाजी जर्मनी पर विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है। विजय की इस प्रसिद्धि के कारण 9 मई को युक्रेन से युद्ध खत्म करने के रूसी राष्ट्रपति ने संकेत दिए हैं।

यह भी पढ़ें- सीमा विवाद का होगा निपटारा, मेघालय को 12 गांवों में से मिलेंगे 11 गांव और असम जाएगा जुमरीगांव


 

जानकारी मिली है कि यूक्रेन ने मास्को पर अपने हजारों नागरिकों को जबरन रूस ले जाने का आरोप लगाया है और दावा किया है कि उनमें से कुछ को ‘बंधक’ के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है, ताकि कीव पर युद्ध से पीछे हटने का दबाव बनाया जा सके। एसोसिएटेड प्रेस की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि यूक्रेन की अधिकारी ल्यूडमिला डेनिसोवा ने कहा कि 84, 000 बच्चों सहित 402,000 लोगों को उनकी इच्छा के विरुद्ध रूस ले जाया गया है।


नए प्रतिबंधों का दावा


दूसरी ओर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और अमेरिका के पश्चिमी सहयोगियों ने रूस पर नए प्रतिबंध लगाने और यूक्रेन को मानवीय सहायता देने का वादा किया है। हालांकि यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लोदिमीर जेलेंस्की ने उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (NATO) की आपात बैठक को संबोधित करते हुए ‘असीमित सैन्य सहायता’ की अपील की है।