आखिरकार भारतीय जनता पार्टी ने उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री का ऐलान कर दिया है। एक बार फिर पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री की कुर्सी सौंपी गई है। दरअसल रविवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के आवास पर बीजेपी नेताओं की बैठक के बाद सोमवार की शाम उत्तराखंड में पुष्कर सिंह धामी को विधायक दल का नेता चुन लिया गया है। मौजूदा सीएम पुष्कर सिंह धामी दूसरी बार उत्‍तराखंड के सीएम बनेंगे। खटीमा से चुनाव हारने के बावजूद फिर से पुष्कर सिंह धामी ही उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री बनेंगे।

इससे पहले आज उत्तराखंड विधानसभा के नवनिर्वाचित विधायकों ने शपथ ली। नवनिर्वाचित विधायकों को प्रोटेम स्पीकर बंशीधर भगत ने शपथ दिलाई। बंशीधर भगत ने राजभवन में राज्यपाल से पहले प्रोटेम स्पीकर की शपथ ग्रहण की। सुबह 11:00 बजे से विधायकों को शपथ दिलाना शुरू किया गया।

ये भी पढ़ेंः 2 अप्रैल है Chaitra Navratri, भूलकर भी ना करें ये कार्य वरना हो जाओगे बर्बाद


प्रोटेम स्पीकर बंशीधर भगत ने घोषणा की कि 70 में से 69 विधायकों ने पद की शपथ ली है। किच्छा से नवनिर्वाचित विधायक तिलक राज बेहड़ शपथ लेने नहीं पहुचे, इसलिए प्रोटेम स्पीकर में फोन कर उनसे बात की। तिलक राज बीहड़ ने तब अपने खराब स्वास्थ्य का हवाला देते हुए खुद को आने में असमर्थ बताया।

ये भी पढ़ेंः हैवनियत की हदें पार! 8 साल की बच्ची से सामूहिक बलात्कार कर फोड़ी आंखे, मौत


बंशीधर भगत ने जानकारी देते हुए बताया कि 69 में से 5 विधायकों ने संस्कृत में शपथ ली, जबकि टिहरी से विधायक चुने गए किशोर उपाध्याय ने गढ़वाली भाषा मे शपथ ली, जिसके बाद उन्हें हिंदी में भी शपथ दिलवाई गयी। बता दें कि उत्तराखंड की पांचवीं विधानसभा के लिए प्रोटेम स्पीकर और नवनिर्वाचित विधायकों के शपथ के बाद अब सभी की निगाहें शाम को होने वाली विधायक दल की बैठक पर टिकी हैं। मुख्यमंत्री का ताज किसके सिर सजेगा, इसका फैसला आज शाम को होने जा रही भाजपा विधायक मंडल दल की बैठक में हो जाएगा। बैठक में केंद्रीय पर्यवेक्षक एवं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मुख्यमंत्री के नाम का एलान करेंगे।