पंजाब के CM चरणजीत सिंह चन्नी के भाई को कांग्रेस से टिकट नहीं मिला है। चन्नी अपने भाई डॉक्टर मनोहर सिंह को चुनाव (Punjab Election 2022) लड़वाना चाहते थे, लेकिन खुद की पार्टी ने ही उन्हें टिकट देने से मना कर दिया। आपको बता दें कि मनोहर सिंह ने पंजाब विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए सरकारी नौकरी से वीआरएस तक ले लिया। अब खबर है कि वो निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे।

खबर है कि पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू सीएम चन्नी के भाई मनोहर सिंह को टिकट देने के पक्ष में थे। सिद्धू ने मनोहर सिंह की जगह मौजूदा विधायक गुरप्रीत सिंह जीपी का समर्थन किया।

गौरतलब है कि कल ही कांग्रेस की ओर से पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए 86 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की गई है। इस लिस्ट के अनुसार खुद मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी चमकौर साहिब से चुनाव लड़ेंगे। वहीं, अमृतसर पूर्व से नवजोत सिंह सिद्धू चुनावी मैदान में उतरेंगे। साथ ही डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा डेरा बाबा नानक सीट से उतर रहे हैं। हाल ही कांग्रेस में जाने वाली और सोनू सूद की बहन मालविका सूद मोगा से चुनाव लड़ रही हैं।

पंजाब में 117 सीटों पर विधानसभा चुनावों की वोटिंग एक चरण में 14 फरवरी को होगी। वोटों की गिनती 10 मार्च को की जाएगी। पंजाब में चुनाव के लिए 21 जनवरी को नोटिफिकेशन जारी किया जा रहा है।