पंजाब विधानसभा चुनाव (Punjab assembly elections) से पहले मंगलवार को प्रवर्तन निदेशालय ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (charanjit singh) के भतीजे और कई अन्य के खिलाफ अवैध रेत खनन के मामले में छापा मारा। चन्नी के भतीजे भूपिंदर सिंह हनी (Bhupinder Singh Honey) के घर और पंजाब में 10 अन्य स्थानों पर आज सुबह तलाशी ली गई।

अधिकारियों ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग (money laundering case) का मामला दर्ज किया है और राजनीतिक संबंधों वाले कई लोगों की जांच कर रहा है। बता दें कि पंजाब में अवैध रेत खनन एक बड़ा राजनीतिक मुद्दा है। बता दें कि सितंबर में मुख्यमंत्री पद से हटाए जाने के बाद कांग्रेस छोडऩे वाले अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) का आरोप था कि कांग्रेस के सभी विधायक रेत के अवैध कारोबार में शामिल हैं। उन्होंने पिछले महीने कहा था, अगर मैं नाम बताना शुरू कर दूं तो मुझे ऊपर से शुरुआत करनी होगी। सिंह ने संवाददाताओं से यह भी कहा कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को रेत के अवैध खनन में शामिल विधायकों के बारे में सूचित किया था।

उधर, एक सूत्र ने बताया कि ईडी (ED) की टीम ने मंगलवार तडक़े हनी के होमलैंड हाइट्स स्थित आवास पर सबसे पहले छापेमारी की। किसी को भी घर से निकलने की इजाजत नहीं थी। ईडी विभिन्न दस्तावेजों और कंप्यूटरों की जांच कर रहा है। अभी तक, ईडी ने चल रहे छापे के संबंध में कोई बयान नहीं दिया है। सूत्रों ने बताया कि एक बार छापेमारी खत्म होने के बाद ही जांच एजेंसी कोई बयान जारी करेगी। छापेमारी के दौरान ईडी ने उन लोगों के बयान दर्ज किए जो मुख्यमंत्री के भतीजे (Punjab Chief Minister Nephew) हनी के घर पर मौजूद थे। बड़ी संख्या में लोग घर के बाहर जमा हो गए थे और किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए स्थानीय पुलिस को बुलाया गया था।