पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के भतीजे भूपेंद्र सिंह ( Bhupendra Singh) को प्रवर्तन निदेशालय ने गिरफ्तार कर लिया है. ईडी ने सिंह को जालंधर स्थिति कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया था. खास बात है कि केंद्रीय जांच एजेंसी (Central Investigation Agency) ने हाल ही में सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर छापामार कार्रवाई की थी. इस दौरान सिंह और उनके सहयोगियों से भारी मात्रा में कीमती चीजें और नगदी बरामद की गई थी.

यह भी पढ़े : पत्नी ने दिया बेटी को जन्म तो पति भाग गया अमेरिका, पत्नी ने थाने में दर्ज करवाया केस

ईडी ने सिंह से 7-8 घंटों तक पूछताछ की और इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. ईडी ने लुधियाना, मोहाली और हरियाणा के पंचकूला में दबिश दी थी. उस दौरान ईडी ने ठिकानों से 10 करोड़ रुपये नगद, जरूरी दस्तावेज 21 लाख रुपये से ज्यादा की कीमत का सोना और 12 लाख रुपये की रोलेक्स घड़ी बरामद की थी.

यह भी पढ़े : बड़ी SUV चाहने वालों के लिए बेस्ट है XUV 700, स्टाइल के साथ मिलेगा दमदार परफॉर्मन्स, देखिए डिटेल रिव्यु


 ईडी सूत्रों ने छापेमारी के दौरान मनमानी के आरोपों को खारिज किया था. उन्होंने कहा था कि मंगलवार को शुरू की गई कार्रवाई उचित कानूनी प्रक्रियाओं का पालन करते हुए की गई थी और इस दौरान न तो कोई व्यक्तिगत टिप्पणी की गई थी, न ही कोई धमकी दी गई थी.

सूत्रों ने बताया कि अवैध खनन मामले में पंजाब के मोहाली, लुधियाना, रूपनगर, फतेहगढ़ साहिब और पठानकोट सहित अन्य शहरों में मंगलवार को दर्जन भर ठिकानों पर छापेमारी की कार्रवाई शुरू की गई थी, जो बुधवार तड़के खत्म हुई. उन्होंने बताया कि यह छापेमारी धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत की गई थी और इस दौरान जांच एजेंसी ने बड़ी संख्या में दस्तावेज और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण भी जब्त किए.

ईडी की ओर से जारी बयान में कहा गया था कि छापेमारी की कार्रवाई कुदरतदीप सिंह, द पिंजोर रॉयल्टी कंपनी और उसके साझेदारों, कंवरमहीप सिंह, मनप्रीत सिंह, सुशील कुमार जोशी, जगवीर इंदर सिंह, रणदीप सिंह, प्रोवाइडर्स ओवरसीज कंसल्टेंट प्राइवेट लिमिटेड व उसके निदेशकों तथा शेयरधारकों के खिलाफ की गई, जिनमें भूपिंदर सिंह और संदीप कुमार शामिल हैं.