पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब की जनता ने विधानसभा चुनावों (Assembly Election Results 2022) में नकार दिया है. चन्नी गुरुवार को आए नतीजों में अपनी दोनों सीटों से चुनाव हार गए हैं. चन्नी ने इन चुनावों में चमकौर साहिब और भदौर सीटों से चुनाव लड़ा (Charanjit Singh Channi lost both his seats) था, लेकिन इसके बावजूद वो अपनी कुर्सी नहीं बचा पाए. यहां तक कि कांग्रेस ही पंजाब में अपनी सत्ता नहीं बचा पाई है. दोपहर तक के रुझानों में स्पष्ट हो चुका है कि आम आदमी पार्टी बुहमत के आंकड़ों से कहीं ज्यादा ऊपर सीटें लाकर आराम से सरकार बना रही है.

यह भी पढ़े : केजरीवाल की सुनामी में उड़ गए पंजाब के कांग्रेसी मुख्यमंत्री, चुनाव हारे कैप्टन अमरिंदर सिंह

कांग्रेस नेता चन्नी ने अभी सितंबर में ही पंजाब की सत्ता संभाली थी. पार्टी में मचे घमासान के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद चन्नी को सीएम पद के लिए चुना गया. उन्हें पहले दलित सीएम के तौर पर खूब चर्चा मिली. 

यह भी पढ़े : Punjab Election Result: नवजोत सिंह सिद्धू ने पूरी विनम्रता के साथ हार को स्वीकार किया , कहा - जनता का आदेश भगवान की आवाज


हालांकि, इसके बाद भी कांग्रेस के लिए पंजाब में रास्ता आसान नहीं हुआ. चन्नी और सिद्धू के बीच भी सबकुछ बहुत स्मूद नहीं रहा. पंजाब कांग्रेस के प्रमुख बने नवजोत सिंह सिद्धू की चन्नी के साथ लगातार ठनती रही. इसलिए ये बात काफी दिलचस्प है कि चन्नी और सिद्धू दोनों अपनी सीट से हार चुके हैं. सिद्धू भी अमृतसर ईस्ट से हार गए हैं. 

दिलचस्प है कि पंजाब में वर्तमान मुख्यमंत्री के साथ पहले के भी सभी मुख्यमंत्री भी अपनी सीट नहीं बचा पाए हैं. चन्नी के अलावा कैप्टन अमरिंदर सिंह पटियाला शहरी क्षेत्र, सुखबीर बादल जलालाबाद से हार गए हैं.