बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को ईडी और सीबीआई के दुरूपयोग को लेकर कहा कि इस पर जनता जवाब देगी। उन्होंने भाजपा के नेताओं द्वारा लगाए जा रहे आरोपों पर चुटकी लेते हुए कहा कि जो मेरे खिलाफ बोलेगा उसे फायदा होगा। नीतीश ने 10 लाख लोगों को नौकरी देने के संबंध में भी साफ लहजे में कहा कि हमलोग कोशिश कर रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः हजारों मुकदमों से उड़े जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी के होश, अब आपके बच्चों के लिए नहीं बेचेगा बेबी पाउडर


पटना में शुक्रवार को रक्षाबंधन के दिन राजधानी वाटिका में बिहार वृक्ष सुरक्षा दिवस पर पहुंचे मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि बिहार में हरियाली को लेकर प्रयास किए जा रहे हैें। उन्होंने अपने करीबी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री आर.सी.पी. सिंह पर भी खुलकर बोलते हुए उनका बिना नाम लिए कहा कि जिन्हें सबसे ज्यादा अधिकार दिया उन्होंने कितना गड़बड़ किया। उन्होंने कहा कि हमलोग तो राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति चुनाव में भी साथ खड़े थे। उन्होंने कहा कि पार्टी के लोगों को इच्छा थी कि अब गठबंधन से अलग हुआ जाए और पार्टी अलग हो गई।

ये भी पढ़ेंः तृणमूल कांग्रेस नेता अनुब्रत मंडल को बेड रेस्ट पर भेजने वाले दो डॉक्टरों का हुआ बुरा हाल, CBI ने लिया ऐसा एक्शन


भाजपा के नेताओं द्वारा लगाए जा रहे आरोपों के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि जो हमारे खिलाफ बोलेगा उसे फायदा होगा और जो आरोप लगाएगा तभी पार्टी को फायदा होगा। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और ईडी के दुरूप्योग से संबंधित एक प्रश्न पर कहा कि जनता जवाब देगी। उन्होंने कहा कि देश संविधान से चलता है। प्रधानमंत्री उम्मीदवार के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह सब लोग बोलते रहते हैं। यह सब कोई बात नहीं है। उन्होंने हालांकि यह जरूर कहा कि विपक्ष को एकजुट करने का काम जरूर करेंगे। उन्होंने कहा कि यहां सब काम हो जाए, तो बाहर निकलेंगे। उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के 10 लाख नौकरियों वाले वादे पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हम कोशिश कर रहे हैं, हमारा पूरा प्रयास रहेगा। उन्होंने कहा कि जल जमीन हरियाली से लाभ हुआ है। हमने भी कहा है कि अधिक से अधिक रोजगार मिलना चाहिए। छपरा में शराब से हुई पांच लोगों की मौत के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि शराब बुरी चीज है। लोग गड़बड़ करेंगे तो गलत होगा ही।